News Description
घने कोहरे और सर्दी के साथ नए साल का आगाज

गुरुग्राम : घने कोहरे और सर्दी के साथ सोमवार को नए साल का आगाज हुआ। सुबह के वक्त इतना घना कोहरा था कि विजिबिलिटी जीरो रही। सड़कों पर कुछ भी दिखाई नहीं दिया और वाहनों की रफ्तार थम गई। वाहन चालकों को लाइटें जलाकर सफर तय करना पड़ा और स्पीड भी कंट्रोल रही। दोपहर में कोहरा छंट गया, लेकिन सर्दी दिनभर महसूस की गई।

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर सुबह साढे आठ बजे जीरो विजिबिलिटी रही। न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। पिछले कई दिनों से न्यूनतम तापमान 8.0 डिग्री सेल्सियस के आसपास झूल रहा था, लेकिन अचानक पारा गिरने से तापमान में एक से डेढ़ डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। अधिकतम तापमान भी 24.0 डिग्री सेल्सियस से गिरकर 20.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। अधिकतम तापमान मे तीन से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ गई है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक मंगलवार को सुबह कोहरा छाने और दिन में आसमान साफ रहने की संभावना है।

कोहरे से गेहूं की फसल को मिलेगा फायदा

कोहरा पड़ने से सभी रबी की फसलों को फायदा होगा। खासतौर पर गेहूं, जौ, चना व सरसों की फसल अच्छी होने के संकेत है। कोहरा के दौरान इन फसलों में ¨सचाई की भी कम जरूरत पड़ती है। इसके साथ ही जमीन में नमी बने रहने और गर्मी नहीं होने से पैदावार अच्छी होती है। जिले में गेहूं उत्पादक एरिया ज्यादा है और लगभग जगहों पर ट्यूबवेलों से ही खेतों में ¨सचाई की जा रही है। कृषि मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक जनवरी और फरवरी में कोहरा फसलों के लिए संजीवनी का काम करता है। अगर लगातार कोहरे और सर्दी का मौसम रहा तो रबी की फसलों की पैदावार अच्छी होगी।