# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
तीनों आपरेशन थियेटर की इंफेक्शन रिपोर्ट निगेटिव

रोहतक : तीनों आपरेशन थियेटर की इंफेक्शन जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सोमवार से पीजीआइ में बना हुआ धनवंतरि एपेक्स ट्रॉमा सेंटर शुरु हुआ। पहले सिर्फ दो ही ओटी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। सोमवार को ट्रॉमा को शुरु करने से रिपोर्ट का इंतजार किया। फिर, रिपोर्ट आई, देखा तो निगेटिव थी। करीब साढ़े सात बजे से ट्रॉमा सेंटर औपचारिकता के साथ शुरु हुआ। वहीं, पहले दिन सिर्फ सड़क दुर्घटना या फिर अन्य कारणों से चोट लगने के कारण घायल हुए मरीजों को देखा गया। दावा किया जा रहा है कि अब धीरे-धीरे यह रफ्तार पकड़ेगा। पहले दिन एक आपरेशन भी हुआ और एक मरीज को भर्ती भी किया गया।

करीब 50 करोड़ रुपये की लागत से बने धनवंतरि एपेक्स ट्रॉमा सेंटर में एक जनवरी 2018 अर्थात सोमवार से इलाज शुरु हुआ। पहले दिन जहां सिर्फ आर्थो विभाग के मरीजों का ही उपचार किया गया वहीं, डॉक्टरों ने बाकी आने वाले मरीजों की भी प्रारंभिक जांच की गई। इसके बाद उन्हें प्रारंभिक स्थाई उपचार दिया गया। कुलपति डा. ओपी कालरा, कुलसचिव डा. एचके अग्रवाल, डीन डा. एमसी गुप्ता, कार्यकारी निदेशक डा. सरिता मगगू, ज्वांइट डायरेक्टर डा. कुंदन मित्तल, ट्रॉमा सेंटर के इंचार्ज डा. ईश्वर ¨सह, आईसीयू कंसलटेंट डा. प्रशांत कुमार, ओटी कंसलटेंट डा. संजय जौहर, सीएमओ डा. महेश माहला ने सुबह नौ बजे से पहले पहुंचकर सभी तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही, जिस स्थान पर जो कमी नजर आई, उसे दूर करने का प्रयास किया। कुलपति डा. ओपी कालरा ने बताया कि संस्थान में पिछले कई सालों से ट्रॉमा सेंटर बनकर तैयार था, लेकिन शुरू नहीं हो पा रहा था।

उन्होंने कहा कि लंबित कार्यो को पूरा करवाकर इस ट्रॉमा की शुरूआत की गई है ताकि जरूरतमंद मरीजों को अच्छा इलाज मिल सके। डा. ओपी कालरा ने बताया कि ट्रॉमा सेंटर में स्टैंडर्ड आप्रे¨टग प्रोसिजर नियम के तहत ही मरीज देखे जाएंगे ताकि मरीजों को अच्छा व तुरंत इलाज मिल सके। वहीं, पहले दिन सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रॉमा के भू-तल से लेकर तीसरे तल तक की जांच की। वार्ड में उपलब्ध बेड को मरीजों के लिए प्रयोग में लाने के लिए शुरु किया गया।