News Description
सिविल अस्पताल में एक जगह होगा सभी वार्डो का रिकॉर्ड

मुकंदलाल नागरिक अस्पताल में आठ बिस्तरों का बाल चिकित्सा वार्ड और अस्पताल के केंद्रीय रिकॉर्ड रूम का बनाए गए हैं। उनका उद्घाटन विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने शुक्रवार को किया। बाल चिकित्सा वार्ड में एक ब्रोंको रूम का भी निर्माण किया गया है, जिसमें निमोनिया रोगी बच्चों को भाप देने की व्यवस्था की गई है। केंद्रीय रिकॉर्ड रूप बनने से भी वार्डो का रिकॉर्ड एक जगह हो सकेगा।

उन्होंने कहा कि इस वार्ड के बनने से बीमार बच्चों को अब अस्पताल में अलग वार्ड मिलेगा, जिससे की बच्चों की देखभाल भी पूर्ण रूप से हो सकेगी। रिकॉर्ड रूम बनाने से अस्पताल का रिकॉर्ड भी एक ही जगह मिल सकेगा। मरीजों और उनके अभिभावकों को भी इलाज में व इलाज के बाद यदि उसके आवश्यकता होगी तो आराम से प्राप्त हो सकेगा।

अब मिलेंगी बेहतर चिकित्सा

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. विजय दहिया ने कहा कि बाल चिकित्सा वार्ड में नए आठ बेड लगाए गए हैं। अब तक बाल चिकित्सा वार्ड पुरुष वार्ड में ही चल रहा था, लेकिन बच्चों के लिए इस नए वार्ड के बनने के बाद पुरुष वार्ड में जो बेड खाली हुए हैं, वह अन्य मरीजों के काम आएंगे। इन बेडों को एडवांस पीडियाट्रिक सेंटर के साथ जोड़ा गया है। इस तरह अब एपीसी के दो भाग हो गए हैं। एक भाग में एक वर्ष तक के बच्चों का उपचार होगा तथा दूसरे भाग में एक माह से लेकर 14 वर्ष तक के बच्चों का इनडोर इलाज किया जाएगा। इस समय एपीसी में दो बाल रोग विषेशज्ञ व तीन मेडिकल ऑफिसर नियुक्त हैं और 10 स्टॉफ नर्स भी अपनी सेवाएं दे रही हैं। बाल चिकित्सा वार्ड बनने से सभी बच्चों का उपचार एक ही स्थान पर संभव हो सकेगा तथा बीमार बच्चों को बेहतर सुविधाएं प्राप्त होंगी।