# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
200 बेड का अस्पताल मिलेगा, शुरू होगी डायलिसियस सुविधा

फतेहाबाद: स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर जिला को वर्ष 2018 से काफी उम्मीदें हैं। फिलहाल इस मामले में जिला काफी पिछड़ा हुआ है। 12 साल पहले जिला अस्पताल की बि¨ल्डग के लिए जो घोषणा हुई थी उसका नींव पत्थर इस साल रखे जाने की उम्मीद है। सबसे अहम बात यह है कि जो बि¨ल्डग 100 बेड की बननी थी वह अब 200 बेड की बनेगी। इसकी प्रक्रिया अंतिम चरण में है। सेक्टर में बनने वाली अस्पताल की नई बि¨ल्डग को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरी झंडी दे चुके हैं। ये ही नहीं सिविल अस्पताल में मरीजों को जल्द डायलिसियस की सुविधा पीपीपी के तहत मिलने जा रही है। मुख्यालय स्तर पर इसका टेंडर होना है।

जिला के स्वास्थ्य केंद्रों में सबसे बड़ी परेशानी यह है कि यहां पर डॉक्टर ही नहीं है। जिला को पिछले दिनों 29 डॉक्टर अलाट हुए थे, लेकिन उसमें से 14 डॉक्टरों ने ही ज्वाइन किया है। जिसमें तीन डॉक्टर फिलहाल छुट्टी पर चल रहे हैं। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इनकी जिन डॉक्टरों ने ज्वाइन नहीं किया है उनकी जगह पर जल्द वें¨टग लिस्ट में शामिल डॉक्टरों की सूची जारी की जाएगी।जिला नागरिक अस्पताल की लैबोरट्री का जल्द विस्तार होने जा रहा है। यह विस्तार डी प्लान के तहत हो रहा है। फिलहाल सिविल अस्पताल की लैबोरट्री इमरजेंसी के पास है। ओपीडी समय में यहां पर भीड़ होने के कारण इमरजेंसी का रास्ता प्रभावित होता है और मरीजों को भी इंतजार करना पड़ता है। डी प्लान के तहत अब लैबोरट्री का विस्तार करने की योजना है। इसे ओपीडी की तरफ शिफ्ट किया जाएगा। जहां पर बैठने की भी व्यवस्था की जाएगी। एक ही जगह सेंपल लिए जाएंगे और टे¨स्टग की सुविधा होगी।

------

सभी अस्पतालों को मिलेंगे नए बेड :

जिला के स्वास्थ्य केंद्रो में कंडम हो चुके बेडों को बदला जाएगा। सिविल अस्पताल में 30 नए बेड आ रहे हैं तो पीएचसी व सीएचसी भी नए बेड आएंगे। कंडम बेडों की जगह इन्हें लगाया जाएगा। सिविल सर्जन कार्यालय के अनुसार पीएचसी व सीएचसी के लिए मुख्यालय स्तर से खरीददारी होगी तो सिविल अस्पताल के लिए जिला स्तर पर खरीदारी की जा रही है।