News Description
मीठी यादों के साथ फरीदाबाद ट्रेड फेयर का समापन

फरीदाबाद : दैनिक जागरण व एपीएस इवेंट्स एंड एडवरटाइजर्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से सेक्टर-12 में चल रहे फरीदाबाद ट्रेड फेयर का सोमवार को समापन किया गया। समापन समारोह का विशेष आकर्षण प्रसिद्ध जादूगर हैरी रहे, जिन्होंने हैरतअंगेज करतब करके छोटों, बड़ों का खूब मनोरंजन किया। दैनिक जागरण की ओर से ब्रह्माकुमार अश्विनी कुमार ने जादूगर हैरी को सम्मानित भी किया।

मेले में लोगों को मस्ती भरा माहौल मिला। बहुत से लोग खरीदारी करते नजर आए तो खिली धूप में खानपान का भी मजा लिया। मेले में मनोरंजन के अलावा इंटीरियर एंड होम फर्नि¨शग, इंश्योरेंस एंड इन्वेस्टमेंट्स, आइटी एंड कंप्यूटर प्रोडक्ट्स, फर्नीचर, गुड्स लि¨वग प्रोडक्ट्स, हैंडीक्रॉफ्ट्स आइटम्स, हाउ¨सग अप्लायंस तथा बुटीक्स एंड गारमेंट के स्टाल पर खूब रौनक रही। सेल के उत्पादों के प्रति लोगों का आकर्षण नजर आया। विक्रेताओं ने मीठी यादों के साथ नव वर्ष का स्वागत किया और मेले को अलविदा कहते हुए नए जोश के साथ अगले मेले में आने का संकल्प लिया।

पिछले साल की अपेक्षा इस बार फरीदाबाद ट्रेड फेयर बहुत अच्छा रहा। मेले का खूबसूरत वातावरण मन को भा गया। ऐसे मेलों में किफायती दामों पर खरीदारी का मौका मिलता है।

-अवतार सूरी।

मेले में एक ही जगह कई चीजों कीं खरीदारी हो जाती है। आजकल व्यस्तता ज्यादा है, ऐसे में मेलों की बड़ी जरूरत है।

-रा¨जद्र कौर।

मेलों से कारोबार को बढ़ावा मिलता है तो खरीदार को एक ही जगह बहुत सी चीजें खरीदने का अवसर। ऐसे मेले समय-समय पर लगने चाहिए।

-बंटी खत्री।

मेले में आना अच्छा लगता है। मेले में खाने-पीने का अलग ही मजा होता है। दैनिक जागरण ने मेला लगाकर लोगों को इंटरटेनमेंट का भी मौका दिया है।

-राज सचदेवा।

मुझे मेले में आना अच्छा लगा। ऐसे मेलों के आयोजन से लोग भी जुड़ते हैं। परंपरागत बाजारों के अलावा मेलों में ज्यादा बेहतर खरीदारी होती है।

-कैलाश गुगलानी।

तनाव मुक्ति के लिहाज से मेले उपयोगी साबित होते हैं। भागदौड़ के जीवन में मेले में मस्ती का मौका मिलता है।