News Description
कांग्रेस अपने निशान पर नहीं लड़ेगी चुनाव

अंबाला : कैंटोनमेंट बोर्ड के वार्ड सात के उप चुनाव को कांग्रेस पार्टी अपने चुनाव चिन्ह पर नहीं लड़ेगी। सोमवार को पार्षद पद के उम्मीदवार सत्य भारती को चुनाव चिन्ह हाथ के निशान की जगह पर नारियल का चुनाव चिन्ह बदलना पड़ा तो वहीं भाजपा के उम्मीदवार सन्नी को पार्टी ने अपने चुनाव चिन्ह पर ही मैदान पर उतारा है। चुनाव चिन्ह आवंटित होने के बाद अब दोनों ही उम्मीदवारों ने जनसंपर्क अभियान के लिए वार्ड में तैयारी शुरू कर दी है। अब रेलवे कॉलोनी और कुष्ट आश्रम की आम जनता किसे अपना जन समर्थन देती है यह 22 जनवरी को चुनाव के बाद घोषित होने वाला रिजल्ट ही बताएगा, लेकिन टक्कर कांटे की होने वाली है।

बता दें कि कांग्रेस के निशान पर ही सत्य भारती ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था साथ ही पार्टी को पत्र लिख कर चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ने की मांग की थी। कांग्रेस ने पत्र के जवाब में उम्मीदवार को अपना समर्थन तो दिया है लेकिन चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ने की सहमति नहीं दी है। कैंटोनमेंट बोर्ड अंबाला छावनी में सोमवार को अधिकारिक रूप से चुनाव चिन्ह अलॉट करने की प्रक्रिया का अंतिम दिन रहा और नगर निगम अंबाला के संयुक्त आयुक्त और चुनाव अधिकारी गगनदीप ¨सह ने जहां सत्य भारती को नारियल का चुनाव चिन्ह तो वहीं सन्नी को कमल का फूल का निशान अलॉट कर दिया है। बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि वार्ड 7 के पार्षद गरीब दास का पिछले साल निधन हो गया था। 22 जनवरी को रेलवे कॉलोनी और कुष्ट आश्रम की करीब 14 सौ की आबादी अपने पंसदीदा पार्षद पर मोहर लगाएगी।

हजारों लोग वोट डालने से रहेंगे वंचित

कैंटोनमेंट बोर्ड के हिम्मतपुरा, गुलाब और दूधला मंडी की हजारों की आबादी इन चुनावों में वोट नहीं डाल पाएगी। इन लोगों के विरोध के बावजूद किसी ने भी इन लोगों की कोई सुनवाई नहीं की है। अब इन लोगों का भविष्य क्या होगा? इसके बारे में किसी को कुछ नहीं पता है। 200 साल से रह रही है यहां की आबादी वार्ड 7 में ही वोट डालती आ रही है। लेकिन इस बार इन तीनों एरिया के लोगों की वोट काट दी गई और वार्ड से बाहर कर दिया गया है।