News Description
निगम बचाने की कवायद तेज, जनसंख्या सर्वेक्षण शुरू

 पंचकूला : नगर निगम पंचकूला को भंग करने को लेकर शुरू हुई अटकलों के बीच निगम द्वारा जिले के जनसंख्या के आकड़े को जाचने के लिए सर्वे शुरू करवा दिया गया है। सर्वे का उद्देश्य पंचकूला नगर निगम को बचाना है। सूत्रों के अनुसार हरियाणा सरकार द्वारा यह फैसला कर लिया गया है कि पिंजौर-कालका को नगर निगम एरिया से बाहर निकाल दिया जाएगा, ऐसे में पंचकूला शहर में नगर निगम रहे, इसके लिए तीन लाख की जनसंख्या होनी जरूरी है, वर्ष 2011 में हुई जनगणना में पंचकूला की जनसंख्या सवा दो लाख के लगभग थी, जिसके चलते निगम को बचाना असंभव नजर आ रहा था, इसलिए जब तक नगर निगम की अधिसूचना पुन: जारी नहीं होती, तब तक जनसंख्या सर्वेक्षण करवाकर पता लगाया जा सकता है कि पंचकूला में जिस एरिया को नगर निगम में शामिल किया जाना है, उसकी जनसंख्या कितनी है।

सोमवार को नगर निगम पंचकूला ने सर्वे के लिए हरियाणा नवयुवक कला संगम को जिम्मेदारी सौंपी, जिसके चलते 25 सर्वेयर की टीम को नगर निगम के आयुक्त राजेश जोगपाल ने रवाना किया और उन्हें शीघ्र ही तथ्यों को एकत्रित करने के लिए कहा। राजेश जोगपाल ने कहा कि तथ्य पूर्णतय ठीक होने चाहिए। कार्यकारी अधिकारी ओपी सिहाग ने बताया कि सर्वे के दौरान न केवल जनसंख्या के आकड़े लिए जाएंगे। साथ ही शौचालय से संबंधित जानकारी, शहर में घरों में रखे गए पशुओं पालतू जानवरों की जानकारी भी एकत्रित की जाएगी। सर्वे की शुरुआत वार्ड नंबर 9 से की गई है।