News Description
तीन दिन बाद भी मासूम बच्ची का नहीं मिला सुराग

रेलवे लाइन पार क्षेत्र से शुक्रवार की सुबह से लापता सात वर्षीय मासूम बच्ची का तीसरे दिन भी कोई सुराग नहीं मिला। बच्ची की तलाश में रविवार को भी पुलिस टीमें जुटी रही। आसपास के थानों में भी सूचना दी गई, मगर कहीं से कोई जानकारी नहीं मिली। ऐसे में समझ नही आ रहा कि बच्ची आखिर कहा गायब हो गई?

लाइनार के न्यू सुभाष नगर से सात वर्षीय मंजू शुक्रवार की सुबह लापता हो गई थी। वह घर से दुकान पर टॉफी लाने के लिए निकली थी, मगर वापिस नही आई। मंजू का परिवार गद्दी खेड़ी का रहने वाला है। वह अपने मामा के साथ ननिहाल में आई थी। दो बहनों में छोटी मंजू का इस तरह से लापता हो जाना हर किसी को भयभीत कर रहा है।

बच्ची की तलाश में पुलिस ने लगाया एड़ी चोटी का जोर

लापता बच्ची मंजू की तलाश में पुलिस ने भी दिनरात एक किया हुआ है। शनिवार को तो खुद एसएसपी बी सतीश बालन यहा पहुचे थे। उन्होंने तो बच्ची के बारे में सूचना देने वाले को ईनाम देने की भी घोषण कर रखी है। उसके बाद से ही पुलिस की टीमें और भी ज्यादा गंभीरता से बच्ची की तलाश में जुटी है। रविवार को पुलिस ने आसपास की ड्रेनें, माइनर, बंद पड़े ईट भट्ठे समेत हर संभावित और सुनसान जगह तलाशी, लेकिन बच्ची कहीं नही मिली। आसपास के सभी थानों में भी पुलिस ने सूचना भेज रखी है। कहीं से भी बच्ची के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है। ऐसे में परिजन भी गम में डूबे हुए है। परिवार तो अब इस बात का पश्चाताप कर रहा है कि काश मंजू को टॉफी लाने के लिए पैसे ही नहीं दिए होते, तो वह लापता नही होती।

वर्जन..

बच्ची की तलाश में पुलिस की ओर से कोई भी कमी नही छोड़ी जा रही है। सभी संभावित जगहों पर उसकी तलाश कर ली गई है। यदि कहीं से जानकारी मिलती है तो पुलिस वहा तुरत पहुचेगी।