News Description
नए साल में विकास की छलांग लगाने को तैयार जिला महेंद्रगढ़

नारनौल :  विकास के पथ पर कदम बढ़ा रहे जिला महेंद्रगढ़  के लोगों को नए साल में बड़ी उम्मीदें हैं। नए साल में जिले के पहले लॉजिस्टिक  हब के शुरू होने की उम्मीदें प्रबल हुई हैं। नए साल में इस हब ही नहीं, बल्कि विद्युत आधारित रेल सेवाएं भी चालू होने की पूरी संभावना है। इतना ही नहीं, जिले में बिजली  योजना को भी अमलीजामा पहनाया जाएगा।

नए साल में हरियाणा सरकार द्वारा प्रस्तावित लॉजिस्टिक  हब के चालू होने की उम्मीदों को पंख लग हुए हैं। करीब 1100  एकड़ जमीन में यह हब निजामपुर  के साथ लगते घाटोसर, तलोट एवं बसीरपुर  में बनाया जाना है। इसके रोडमैप  को अमलीजामा पहनाने के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य चला हुआ है। इस हब के चालू होने को महेंद्रगढ़  जिले में पहली बार उद्योग धंधों की नींव के रूप में देखा जा रहा है। हाल ही में दुबई की दो कंपनियां लाजिस्टिक  हब वाले क्षेत्र का दौरा कर चुकी हैं। सरकार की ओर से इन कंपनियों को यहां उद्योग स्थापित करने के लिए आमंत्रित किया गया था। इस लॉजिस्टिक  हब को जिले के विकास में मील के पत्थर के रूप में देखा जा रहा है। यह वही हब है, जो पहले बावल  में बनना था। मगर वहां के किसानों ने जमीन देने से सरकार को मना कर दिया था। उसके विकल्प रूप में ही निजामपुर  क्षेत्र में हब के लिए जमीन तलाशी गई।

नए साल में बिजली से दौड़ती रेलगाड़ियां भी दौड़ती नजर आने की उम्मीदें हैं। रेल विभाग ने नारनौल  से होकर रेवाड़ी-रींगस  को जोड़ने वाले रेल मार्ग का इस क्षेत्र में पहली बार विद्युतीकरण किया है। एक सामान्य ब्राडगेज पटरी के अलावा बिजली आधारित लाइन भी तैयार की जा चुकी है। बीते साल में सवारी एवं मालगाड़ियां  एक ही पटरी पर दौड़ती रही हैं। नए साल में सवारी एवं मालगाड़ियां  अलग-अलग पटरियां दौड़ने लगेंगी, जिससे सवारी गाड़ियों का क्रा¨सग की समस्या से निजात मिलेगी और रेलयात्रियों का समय बच सकेगा। विद्युतीकरण भी इलाके के विकास में महत्वपूर्ण सिद्ध हो सकेगा। इस ट्रैक  के चलते मल्टीनेशनल  कंपनियां उद्योग-धंधों से वंचित इस इलाके में अपने व्यवसाय की इकाई स्थापित कर सकती हैं।

नए साल में बिजली निगम जिले में बिजली सु²ढ़ीकरण योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए जुटा हुआ है। इस साल नारनौल के हुडा एवं लाल पहाड़ी पर नए विद्युत सब स्टेशन तैयार किए गए हैं और इनमें नए साल में चालू होने की पूरी संभावना है। इनके अलावा पाली, सुंदरह, आकोदा, कारिया, मालड़ा बास, सुरहेती जाखल, को¨जदा एवं नांगल दर्गू में 10 एमवीए के विद्युत सब स्टेशन तैयार किए जा रहे हैं। इससे लोगों को बेहतर बिजली आपूर्ति की सुविधा मिल सकेगी।