News Description
स्पीकर ने की बिलासपुर में सामुदायिक केंद्र बनाने की घोषणा

 बिलासपुर : कस्बा बिलासपुर के अंबेडकर भवन में रविवार को भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा की स्थापना की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर रहे। इसके अलावा अति विशिष्ट अतिथि के तौर पर अंबाला सांसद रतन लाल कटारिया व साढौरा विधायक बलवंत ¨सह विशिष्ट अतिथि रहे। सभी ने संयुक्त रूप से प्रतिमा का अनावरण किया। कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर बचपन से ही होशियार और कुशल विद्यार्थी थे। उन्होंने कोलंबिया विश्वविद्यालय और लंदन स्कूल आफ इकोनॉमिक्स से बहुत सारी कानूनी डिग्री प्राप्त की थी। उनको कानून, अर्थशास्त्र और राजनितिक शास्त्र पर अनुसंधान के कारण विद्वान की पदवी दी गई। उनके प्रारंभिक करियर में वे एक अर्थशास्त्री, प्रोफेसर और वकील थे। बाद में उनका जीवन पूरी तरह से राजनीतिक कार्यों से भर गया। वे भारतीय स्वतंत्रता के कई अभियानों में भी शामिल हुए। उन्होंने ऊंच नीच के खिलाफ आवाज उठाई थी। उन्होंने सभी को एक समान नजरों से देखा। इसलिए हम सभी को उनके दिखाए गए मार्ग पर चलना चाहिए। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे खुद को नशे जैसी बुराई से दूर रखें। जितना हो सके उच्च शिक्षा ग्रहण करनी चाहिए। उन्होंने अंबेडकर भवन में सामुदायिक केंद्र बनवाने की घोषणा की। सांसद रतन लाल कटारिया ने कहा कि सामुदायिक केंद्र बनाने में यदि किसी तरह की कमी रहती है तो वो पांच लाख रुपये सांसद निधि से देंगे। इस अवसर पर ब्लाक समिति चेयरमैन महीपाल संधाय, सुरेंद्र गुर्जर, दाता राम, बिलासपुर सरपंच चंद्रमोहन कटारिया व अन्य लोग मौजूद रहे