# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
पाकिस्तान बाज न आया तो होंगे उसके चार टुकड़े : बख्शी

पलवल: पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी ने कहा है कि भारतवर्ष में संत व सिपाही को एक ही उपाधि दी जाती है। जो संत है, वह सिपाही भी है। देश की स्वतंत्रता व रक्षा में दोनों का अहम योगदान है। पाकिस्तान विश्व भर में अराजकता का माहौल पैदा करने वाला देश है। पाकिस्तान अपनी भूमि में आंतकवादियों को पैदा कर आंतकवाद को बढावा दे रहा है। पाकिस्तान ने पूर्व नौ सेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को अगवा कर यातनाऐं दी हैं। हाल ही में जाधव की मां व पत्नी पाकिस्तान गए और पाकिस्तान सरकार ने उनके साथ भी बदसलूकी की।

बख्शी रविवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आरएसएस के तत्वावधान में आयोजित समरस गंगा महोत्सव में मुख्य अतिथि के पद से बोल रहे थे। मातृभूमि जमीन का टुकड़ा नहीं है। यह हमारी मां है। भारत माता की रक्षा के लिए युवाओं को हमेशा तत्पर रहना चाहिए। देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों को भी न्यौछावर कर देना चाहिए। देश की सेवा करने के लिए जो मशाल उन्होंने उठाई थी, अब युवाओं को उस मशाल को जलाए रखना है। जननी, जन्म भूमि स्वर्ग से भी महान है।

यदि पाकिस्तान अपनी हरकतों ने अब भी बाज नहीं आया तो देश की युवा पीढ़ी पाकिस्तान के चार टुकड़े कर देगी। पाकिस्तान व चीन मिलकर भी भारत का मुकाबला नहीं कर सकते। कोई ताकत भारत देश को छू नहीं सकती। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश वीरों का प्रदेश है। प्रदेश के हजारों सैनिकों ने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। देश की सेवा करना ही सैनिक धर्म है