# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हड़ताल की तैयारी में आइएमए, एनएमसी की शर्तो से नाखुश

 पानीपत : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) की नेशनल बॉडी के आह्वान पर देश भर के 6.5 लाख से अधिक चिकित्सक एक बार फिर हड़ताल के मूड में आ गए हैं। इनमें हरियाणा के 8 हजार चिकित्सक भी शामिल हैं। इस बार विरोध क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट का नहीं, बल्कि नवगठित नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) के नए नियमों और शर्तो को लेकर है।

आइएमए हरियाणा के अध्यक्ष डॉ. एपी सेतिया ने बताया कि भारत सरकार ने एमसीआइ (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ) को तब्दील कर, नेशनल मेडिकल कमीशन बनाया है। लोकसभा में बिल भी पास कर दिया है। कमीशन बनाने और लोकसभा में पास करने से पहले एलोपैथिक पद्धति के डिग्री धारक चिकित्सकों से मशविरा तक नहीं किया गया। आइएमए का तीन मुख्य बातों को लेकर विरोध है। कमीशन के अधिकारियों में चिकित्सकों की संख्या मात्र 10 फीसदी रखी गई है, जबकि यह नब्बे प्रतिशत होनी चाहिए। केंद्र सरकार आयुर्वेदिक व यूनानी पद्धति के चिकित्सकों को ब्रिज कोर्स कराकर, उन्हें अंग्रेजी पद्धति से इलाज करने की मंजूरी देना चाह रही है। इसके अलावा एमबीबीएस में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा और प्रवेश के बाद साढ़े चार साल मेडिकल की पढ़ाई के दौरान तीन मुख्य परीक्षा देकर पासआउट होने वाले एमबीबीएस डॉक्टरों पर एग्जिट परीक्षा लाद रही है। डॉ. सेतिया ने बताया कि आइएमए नेशनल बॉडी की दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के साथ संक्षिप्त बैठक हुई है। अधिकारियों ने आइएमए की नेशनल कार्यकारिणी को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के साथ वार्ता के लिए आमंत्रित किया है।

आइएमए का प्रतिनिधिमंडल सोमवार की सुबह करीब 11:30 बजे जेपी नड्डा से मिलेगा। सरकार ने बेतुके नियमों और शर्तो में बदलाव नहीं किया तो वहीं से 2 जनवरी की हड़ताल का एलान कर दिया जाएगा।