News Description
नए साल पर सिविल अस्पताल को सीटी स्कैन, एमआरआइ की सौगात

पानीपत : वर्ष 2018 का सवेरा हो गया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में इस साल सीटी स्कैन, एमआरआइ, वेंटीलेटर समेत कई दूसरी आवश्यक सुविधाएं मरीजों को उपलब्ध कराने का दावा किया जा रहा है। 31 करोड़ से अधिक की लागत से निर्माणाधीन ग्राउंड प्लस पांच मंजिला अस्तपाल की बिल्डिंग को सबसे बड़ी सौगात होगी।

सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि 31 करोड़ से अधिक की लागत से बन रही सिविल अस्पताल की नई बिल्डिंग का ओपीडी ब्लॉक शुरू कर दिया गया है। बिल्डिंग का नब्बे प्रतिशत कार्य कंपलीट है। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर को फरवरी 2018 में बिल्डिंग हैंडओवर करनी है। इस बिल्डिंग में सीटी स्कैन, एमआरआइ, सेंट्रल ऑक्सीजन, वेंटीलेटर जैसी सुविधाएं अप्रैल 2018 तक मिलने की उम्मीद है। बिल्डिंग की ड्राइंग में ब्लड बैंक भी शामिल है। अस्तपाल की पुरानी बिल्डिंग के नवीनीकरण के लिए सरकार ने करीब 25 लाख की धनराशि जारी की है। अभी और रकम मिलनी है, कार्य शुरू करा दिया है। इस बिल्डिंग को मदर एंड चाइल्ड केयर यूनिट के रूप में डेवलप किया जाएगा। करीब सवा तीन लाख की लागत से कंगारू मदर केयर यूनिट, एनआरसी डेवलप होगा। एसएनसीयू को भी उन्नत बनाया जाएगा। जिले में नौ सब सेंटर अपग्रेड किए जाएंगे। डेंगू व मलेरिया की जांच के लिए केंद्र सरकार से एलाइजा मशीन मिलेगी।

 

सिविल सर्जन की मानें तो ग्रामीण क्षेत्र में चिकित्सा व्यवस्था में सुधार की पूरी उम्मीद है। बापौली व समालखा में सीएचसी की नई बिल्डिंग बन चुकी है। नारायणा भी पीएचसी बनकर तैयार है।