News Description
मेरा चुंदड़ मंगादे ओ ननंदी के बीरा गीत पर थिरके युवा

कलायत : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय गांव मटौर में शुक्रवार को सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। मुख्यातिथि एसएमसी प्रधान जयकिशन थे। मुख्यातिथि ने जिला पार्षद पताशों देवी, सरचंप पिरथी ¨सह व योग शिक्षक राजाराम के अलावा ग्रामीण पहुंचे। शिक्षण संस्थान प्रभारी ई‌र्श्वर ¨सह व शिक्षिका कंवल ने छात्राओं के साथ समारोह में पहुंचने वालों का अभिनंदन किया। कला मंच पर सलीमन, अर्चना व अल्का ने करते है स्वागत आज पलको को बिछाकर के माध्यम से सबको पलकों पर बैठाया। मीनू मेरा चुंदड़ मंगादे ओ ननंदी के बीरा हरियाणी गीत लेकर मंच पर पहुंची। इस छात्रा ने अपनी प्रस्तुति के जरिये भारतीय संस्कृति के पहनावे और जन जीवन का चित्रण प्रभावी ढंग से किया। सोनिया एंड पार्टी ने नो डांडी का बिझना घुमाते हुए कार्यक्रम में धमाल मचाया। जैसमीन आधी सी रात मेरी नींद उचट गई प्रस्तुति लेकर दर्शकों के बीच पहुंची। सीता एंड पार्टी मधुर रिश्तों के ठिठोलपन को बन्ना गिरी छुआरे छौलअ और बनरी ना बौलअ नए अंदाज में इस तरह से पेश किया कि हर कोई झुमने पर विवश हो गया। पूजा और सलीमन का ढोलना ढोल बाजे भी प्रभावपूर्ण रहा। शीतल म्हारी गली में आगे चोर लेकर मंच पर आई। संविधान निर्माता डा.भीमराव अंबेदकर के जीवन दर्शन पर नन्हें-मुन्नों की बेहद मार्मिक प्रस्तुति रही। इन्होंने बाबा साहब के संघर्ष व उनके जीवन की अंतिम यात्रा की झलक हुबहु दिखाई। जयकिशन, पताशो देवी, पिरथी ¨सह ने कहा कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के साथ-साथ जिस प्रकार जीवन कुशलता पर आधारित कार्यक्रम के माध्यम से शिक्षण संस्थान ने बेटियों के जज्बे को पंख लगाए है वह राष्ट्र उन्नति की उड़ान का काम करेंगे। बेटियों को जागरूकता की दहलीज पर कदम रखने के लिए प्रेरित करने की जरूरत है।