News Description
चालक को बचाने के लिए पांच घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन

जींद-पानीपत रोड पर रजाना कलां गांव के पास एक ¨जदगी बचाने के लिए बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन चला। सड़क दुर्घटना में फंसे ड्राइवर को बचाने के पिल्लूखेड़ा थाना पुलिस ने पांच घंटे का रेस्क्यू ऑपरेशन चला कर उसकी जान बचा ली। रजाना गांव में सुबह पांच बजे एक सरिये से भरा एक कैंटर पेड़ से टकरा गया। इस हादसे में कैंटर का उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर निवासी ड्राइवर नागेंद्र पेड़ और कैंटर के बीच फंस गया। ड्राइवर के साथी ने उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुआ। उसके बाद पुलिस की मदद ली गई।

पिल्लूखेड़ा थाना प्रभारी राजकुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन जिस प्रकार ड्राइवर फंसा हुआ था, उसे निकाल पाना मुश्किल था।

ऐसे में पिल्लूखेड़ा कस्बे से एक वेल्डर की टीम बुलाई गई। वेल्डर की टीम ने पांच घंटे तक कड़ी मशक्कत की और ड्राइवर की जान बचाई। वेल्डर टीम का नेतृत्व कर रहे धर्मेद्र पांचाल ने बताया कि ड्राइवर जिस प्रकार फंसा था उसे निकलना बड़ी चुनौती था। बड़ी दिक्कत यह थी कि जिस जगह ड्राइवर की टांग फंसी थी, उस जगह को काटना बड़ा चुनौती था। गैस कटर की आग से उसकी टांग जलने का खतरा था। पांच घंटे तक ड्राइवर को हौसला देने के लिए लगातार प्रयास रहे। नागेंद्र को जींद के सामान्य अस्पताल भेज दिया गया है। जहां उसका इलाज चल रहा है।