News Description
बहादुरगढ़ के पूर्व विधायक नफे¨सह राठी ने उपायुक्त के समक्ष उठाया रजिस्ट्री का मामला

झज्जर : पूर्व विधायक नफे ¨सह राठी का आरोप है कि बहादुगरढ़ में भू-माफिया सक्रिय है। लगातार पिछले कई माह से हो रही रजिस्ट्री में जिस तरह का घालमेल सामने आया है, उससे महाघोटाले की बू आ रही है। मसले को उप-मंडल स्तर पर उठाने के बाद शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर पहुंचे राठी ने क्षेत्र के लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ उपायुक्त सोनल गोयल से मुलाकात करते हुए उन्हें ज्ञापन भी सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने ऐसी सभी रजिस्ट्रियों की डिटेल दी है और कहा है कि जिस जमीन की रजिस्ट्री करवाई जा रही है। वह दूसरी है और जो कब्जा हो रहा है वह दूसरी जमीन है। ऐसे में योजनाबद्ध तरीके से प्रदेश सरकार की जमीन को भू-माफिया करोड़ों रूपये का मुनाफा कमाते हुए प्रशासन की नाक के नीचे ही बेच रहा है। जो कि नाजायज है। उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने के बाद उन्होंने यह सभी जानकारी जिला मुख्यालय पर आयोजित एक पत्रकार वार्ता में दी।

वार्ता को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि शासन-प्रशासन में बैठे हुए कुछ लोगों की शह पर यह पूरा खेल खेला जा रहा है। जिससे राजस्व को तो लाखों रुपये का नुकसान हुआ ही है।बल्कि साथ में सरकारी जमीन भी खुर्द बुर्द हो रही है। राठी का कहना है कि शातिराना अंदाज में पूरे घटनाक्रम को अंजाम तक पहुंचाया गया है। मामले को उठाए हुए एक सप्ताह बीत चुका है। लेकिन उप-मंडल के स्तर पर अभी कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। जबकि आरोपी पक्ष बड़ी ही तेजी से उस जमीन पर निर्माण कार्य करवा रहा है। ऐसे में उपायुक्त से यह मांग है कि हो रहे इस निर्माण कार्य को पहले तो रोका जाए। उसके बाद मामले की जांच की जाए। जो भी उसमें दोषी हो। उनके खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

बॉक्स : पूर्व विधायक का कहना है कि अगर प्रशासनिक स्तर पर इस दिशा में कोइ्र ठोस कदम नहीं उठाया जाता तो वह नव वर्ष के पहले सप्ताह में हाई-कोर्ट की शरण में जाते हुए मामले को उठाएंगे। ताकि नाजायज तरीके से हो रही इस कार्रवाई पर रोक लगाए जाने के साथ-साथ जवाबदेही भी तय की जा सके। उनका एक अन्य आरोप लगाते हुए यह कहा कि परिषद के स्तर पर जो नक्शे पास किए गए है। उन्हें मौके पर जाकर देखा भी नहीं गया। जबकि रजिस्ट्री में खसरा नंबर अलग है और मौके पर कोई दूसरा है।