# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
मांगे मनवाने के लिए मंत्री कार्यालय के सामने ही बैठे सफाई कर्मचारी

रोहतक: नगर निगम के सफाई कर्मचारियों का शुक्रवार को गुस्सा सातवें आसमान पर था। सैकड़ों कर्मचारी लंबित मांगों को पूरा कराने के लिए पुराने एडीसी कार्यालय से मानसरोवर पार्क स्थित सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के कार्यालय तक पहुंचे। सहकारिता मंत्री इस दौरान मिले नहीं तो कर्मचारियों का गुस्सा और बढ़ गया। लंबित मांगे पूरी न होने का आरोप लगाते हुए सफाई कर्मचारियों ने तत्काल मांगे पूरे करने की मांग रखी। मंत्री कार्यालय की ओर से आश्वासन मिला कि मांगे पूरी कर दी जाएंगी। मगर कर्मचारी मंत्री कार्यालय के सामने ही डेरा जमाकर बैठ गए। निगम कमिश्नर प्रदीप कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने अपने स्तर की मांगों को तीन दिन में पूरा करने का आश्वासन दिया। जबकि सरकार स्तरीय मांगों के लिए पत्र भेजने की बात कही। 

वहीं, आश्वासन के बाद करीब पांच घंटे बाद प्रदर्शन स्थगित किया गया। इस दौरान प्रधान नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा संजय बिडलान, जिला प्रधान अशोक डुलगच, कोषाध्यक्ष विक्की बिडलान, महासचिव श्रवण बोहत, रवि चड्डा, राकेश राकू, अंकित, जतिन, अनिल, प्रतीकराज, अमित, सुरेन्द्र, बालकिशन, किशोर, प्रदीप, योगेश, कंवल राणा, पवन राणा, तारा चन्द राणा, कौशल, उगम, संजय ¨झगाल, विरेंद्र लाला, चमन लालअशोक कुमार वरिष्ठ उपप्रधान, अशोक थावरिया, राजेंद्र चटोला, सतीश आदि उपस्थित रहे।

नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रधान संजय बिड़लान के नेतृत्व में नगर निगम, हुडा, जनस्वास्थ्य विभाग, मंडी आदि स्थानों के सफाई कर्मचारी इकट्ठे हुए। सरकार और निगम प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए संबंधित कर्मचारी अंबेडकर चौक, सोनीपत स्टैंड से सुभाष चौक होते हुए सहकारिता मंत्री के कार्यालय तक पहुंचे।