# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
गोष्ठी में बही श्रृंगार, हास्य व करुण रस की गंगा

रेवाड़ी: सरकुलर रोड स्थित जैन पब्लिक स्कूल में सृजन गंगा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें रचनाकारों और कवियों ने श्रृंगार, वीर, हास्य एवं करूण रस की गंगा बहाई। हरियाणा साहित्य अकादमी पंचकुला के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में रचनाकारों की कविताओं की सराहना करते हुए मुख्य अतिथि डॉ. एसएन सक्सेना ने इस प्रकार के कार्यक्रमों को समय की मांग बताया। उन्होंने पांच रचनाकारों को साहित्य सेवा के लिए सम्मानित किया। कार्यक्रम की शुरुआत वरिष्ठ कवयित्री दर्शना शर्मा की सरस्वती वंदना से हुई। स्कूल की उप प्रधानाचार्या सोनल छाबड़ा ने अतिथियों का अभिनंदन किया।

कार्यक्रम के संयोजक प्रो.आरसी शर्मा ने कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। ¨हदी भाषा के महत्व की कविता विशेष रूप से सराही गई। कार्यक्रम संयोजक प्रो, शर्मा ने कवियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि शब्द भेदक और बोधक दोनों कार्य करता है।

वरिष्ठ कवि विपिन सुनेजा ने काव्य के लिए प्रतिभा, ज्ञान एवं अभ्यास को जरूरी बताया। सत्यवीर नाहड़िया ने अनुशासित एवं मर्यादित कविता पर बल दिया। मौके पर धर्मेंद्र, नीता अग्रवाल, वंशिता, मधु चौहान, कृष्ण गोपाल, पूनम वधवा, सुरेंद्र, कंवर ¨सह, बृजेश यादव, विनय भटनागर, महेंद्र मधुर, दीपक, तनुज, डॉ. अजेश, अरूण गुप्ता, मुकुट, प्रेमपाल, जय¨सह, त्रिलोकचंद, महावीर निर्दोष, डॉ. सत्यवीर, डॉ. कंवर ¨सह आदि ने अपनी रचनाएं प्रस्तुत कीं। प्रबंधन समिति के कोषाध्यक्ष सुरेद्र जैन ने सफल आयोजन के लिए विद्यालय के लिए गौरवशाली पल बताया और अतिथियों को सम्मानित किया।