News Description
लटक सकता है केजीपी एक्सप्रेस वे के का निर्माण कार्य

पलवल : पहले से ही कई बाधाओं से जूझ रहे केजीपी एक्सप्रेस-वे के काम में और भी देरी हो सकती है। निर्माण के दौरान मंगलवार को गांव असावटा-अटोहां के बीच रेलवे लाइन पर बनने वाले ओवरब्रिज पर गार्डर रखते समय गार्डर गिर गया था। घटना की रेलवे और एनएचएआइ ने अलग-अलग जांच शुरू कर दी है। जांच के दौरान रेलवे अपने नुकसान का आंकलन करेगा और उसकी भरपाई के लिए एनएचएआइ को नोटिस जारी करेगा। रेलवे की जांच होने तक केजीपी का निर्माण कार्य भी लटका रह सकता है।

बता दें कि दिल्ली-आगरा रेलवे लाइन पर केजीपी के तहत बन रहे ओवरब्रिज के निर्माण के लिए 144 फुट लंबा गार्डर रेलवे लाइन पर गिर गया था। इसके चलते ओएचई टूटने से करीब चार घंटे तक दिल्ली-आगरा ट्रैक पूरी तरह से बाधित रहा। आगरा डिविजन के रेल अधिकारियों ने बताया कि रेलवे लाइन पर गार्डर गिरना घोर लापरवाही है और इसे लेकर विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा कई ¨बदुओं पर जांच की जा रही है। जिसमें रेलवे का नुकसान, उसकी भरपाई, ओवरब्रिज का निर्माण कर रही कंपनी से ही काम कराने या फिर किसी और कंपनी से कार्य कराने पर भी बात हो सकती है। एक योजना यह भी बन सकती है कि ओवर ब्रिज पर गार्डर रखने के कार्य को रेलवे विभाग खुद ही कराए।