News Description
शिअद को इनेलो की चुनौती से सियासी गर्मी

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा के दो दल कभी मित्र थे और उनके नेताओं में सियासी रिश्‍ते के संग करीबी पारिवारिक संबंध भी थे। लेकिन, आज वे एक-दूसरे के खिलाफ खड़े दिख रहे हैं। हम बात कर रहे हैं इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) और श्‍ािरोमणि अकाली दल (शिअद) की। दाेनों दलों में एसवाईएल नहर पर तकरार और संबंध विच्‍छेद हुआ था। अब इसी मुद्दे पर इनेलाे ने शिअद को ऐसी चुनौती दे दी है कि सियासी माहौल गर्मा गया है।

इनेलो नेता हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने हरियाणा की राजनी‍ति में सक्रिय हाेने की तैयारी कर रहे शिअद नेताओं को एसवाईएल पर स्टैैंड स्पष्ट करने की चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि किसी राजनीतिक दल को किसी भी प्रदेश में चुनाव लड़ने का हक है, लेकिन शिअद ने हमेशा एसवाईएल पर हरियाणा के हितों के विपरीत बात की। ऐसे में उसे हरियाणा में राजनीति करने से पहले एसवाईएल पर अपनी स्थिति साफ करनी चाहिए।

चौटाला ने कहा कि पूर्व में इनेलो ने भले ही अकाली दल के साथ मिलकर चुनाव लड़े, लेकिन वर्तमान में दोनों दलों की राजनीतिक राह अलग है। राजनीतिक विकल्प खुले रखते हुए उन्होंने कहा कि अगर अकाली दल एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलवाने के लिए इनेलो द्वारा शुरू की गई लड़ाई में समर्थन करेगा तो फिर साथ पर विचार किया जा सकता है।