# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
समाज में भी स्वयंसेवा का अहम कड़ी है एनएसएस : दयानंद सिहाग

फतेहाबाद :राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का सात दिवसीय एनएसएस शिविर समापन कार्यक्रम स्कूल प्रांगण में संपन्न हुआ। जिला शिक्षा अधिकारी दयानंद सिहाग बतौर मुख्यातिथि पहुंचे, जबकि अध्यक्षता उपप्राचार्य बलजीत कौर ने की। समापन कार्यक्रम में प्रतिभागी छात्राओं को पुरस्कृत किया गया साथ ही प्रशंसा पत्र भी वितरित किए गए। एनएस यूनिट प्रभारी संतोष व सहयोगी सुनीता ने कैंप के दौरान करवाई गई गतिविधियों व उपलब्धियों बारे विस्तार से जानकारी प्रदान की। शिक्षाविद सर्वजीत मान, सुमन आर्य, मनजीत कौर आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। मुख्य वक्ता डीईओ दयानंद सिहाग ने कहा कि एनएसएस का मुख्य उद्देश्य छात्र वर्ग में स्वयं सेवा की भावना पैदा करना है। इसलिए समय-समय पर लगाए जाने वाले इस तरह के शिविर छात्र वर्ग को सामाजिकता के साथ जोड़ने में अहम कड़ी का काम करते है। उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या जैसे गंभीर विषय पर छात्राओं में जागृति की भावना पैदा होती है तो काफी हद तक इस सामाजिक बुराई को समाप्त करने की दिशा में हम एक निर्णायक कदम बढ़ा सकते है। उन्होंने कहा कि ऐसी सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए हर व्यक्ति को अपनी नैतिक जिम्मेवारी का निर्वाह भी ईमानदारी से करना होगा। स्वयंसेवी छात्राओं को उनके अधिकारों के प्रति सचेत किया जाता है। साथ ही उन्हे हर तरह के विपरीत हालात में भी संघर्ष करने के लिए मानसिक एवं शारीरिक रूप से सशक्त बनाने का प्रयास भी अहम रहता है। उन्होंने बताया कि यह स्कूल के लिए हर्ष का विषय है कि पिछले कुछ वर्षो में इस तरह के शिविर की प्रतिभागी रही छात्राएं आज समाजसेवी कार्यों में अपनी भागीदारी कर रही है। इस अवसर पर स्कूल स्टाफ सदस्य व छात्राएं भी उपस्थित रही।