News Description
दिल्ली-हिसार रेलमार्ग पर दौड़ेंगी तीव्र गति की गाड़ियां

ई दिल्ली : रेल मंत्रालय दिल्ली से हिसार तक तीव्र गति की रेलगाड़ियों की क्षमता के अनुरूप रेल मार्ग विकसित करेगा। इसके लिए शुक्रवार रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात के दौरान मंत्रालय की सैद्धांतिक मंजूरी भी दी। बता दें, हिसार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट विकसित किया जाना है। इसके लिए हरियाणा सरकार बेहतर कनेक्टिविटी के साधन अभी से तैयार करवा रही है। मुख्यमंत्री इससे पहले केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के समक्ष दिल्ली-हिसार राजमार्ग को चार लेन से छह लेन का करने से लेकर केएमपी और केजीपी से हिसार को जोड़ने के लिए 134 किलोमीटर नया मार्ग बनाने का प्रस्ताव रख चुके हैं। गडकरी ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के इस प्रस्ताव पर खुशी जाहिर करते हुए तभी अपने मंत्रालय के अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए थे। इसके अलावा उन्होंने तब मुख्यमंत्री के समक्ष यह प्रस्ताव भी रखा था कि इंटरनेशनल एयरपोर्ट तभी सशक्त व प्रभावी होता है जब उसकी कनेक्टिविटी बेहतर हो। इसलिए सड़क मार्ग के अलावा एयरपोर्ट तक रेल मार्ग की कनेक्टिविटी भी बेहतर की जाए। इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने शुक्रवार केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की।

रेल मंत्रालय की सैद्धांतिक स्वीकृति से अब रोहतक-महम-हांसी रेलमार्ग के लिए अब तीव्र गति रेलमार्ग के मापदंड होंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि रोहतक- गोहाना-पानीपत रेलमार्ग को रोहतक में एलिवेट करने के कार्य की निविदाएं हो चुकी हैं और मार्च माह के अंत तक कार्य प्रारंभ हो जाएगा। हरियाणा क्षेत्र में जींद-पानीपत रेलवे लाइन को जींद में शिफ्ट करने की योजना का सर्वेक्षण करने के निर्देश रेल मंत्री ने दिए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि हरियाणा क्षेत्र में निर्मित किए जाने वाले विभिन्न 6 रेलवे ओवर ब्रिज व रेलवे अंडर ब्रिज के कार्यों को आगामी वित्त वर्ष से कार्यान्वित किए जाने के लिए रेल मंत्री ने निर्देश दिए हैं।

रेल भवन में रेल मंत्री के साथ हरियाणा के मुख्यमंत्री की बैठक में हरियाणा के नागरिक विमानन व सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रधान सचिव देवेंद्र ¨सह, हरियाणा के नागर विमानन विभाग के निदेशक अशोक सांगवान व हरियाणा के लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता रमेश मिनौचा मौजूद रहे।