# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बिना एनओसी चल रहे कई होटल-रेस्टोरेंट

फरीदाबाद : नगर निगम के अग्निशमन विभाग ने जिले में बिना एनओसी के चल रहे होटलों और रेस्टोरेंट को नोटिस भेजने की तैयारी कर ली है, जबकि एनओसी न होने पर 44 नर्सिंग होम को नोटिस जारी किए गए हैं। नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त पार्थ गुप्ता ने इस बाबत पिछले दिनों आदेश दिए थे। इसके बाद अब अग्निशमन विभाग जिले भर के होटल और रेस्टोरेंट का सर्वे करने में जुट गया है। सर्वे पूरा किए जाने के बाद जिन होटलों के पास एनओसी नहीं होगी, उन्हें नोटिस जारी किया जाएगा। अग्निशमन विभाग के रिकार्ड के अनुसार इस वर्ष 1 जनवरी से 30 नवंबर तक 40 होटलों तथा रेस्टोरेंट को एनओसी जारी किया गया है।

बता दें कि जिले में बड़ी संख्या में होटल, रेस्टोरेंट, अस्पताल, नर्सिंग, स्कूल तथा तकनीकी शिक्षण संस्थान हैं। इनकी एनओसी की जांच के लिए पिछले दिनों नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त पार्थ गुप्ता ने आदेश दिए थे। इसके बाद विभाग के अधिकारियों ने जांच की तो पाया कि 44 नर्सिंग होम के पास एनओसी ही नहीं है। इन सबको 15 दिन का समय दिया गया कि वे एनओसी के लिए आवेदन करें।

अतिरिक्त आयुक्त के आदेशानुसार जिन होटलों और रेस्टोरेंट के पास एनओसी नहीं है, उन्हें नोटिस जारी किए जाएंगे। पहले सर्वे पूरा किया जाएगा। एनओसी एक वर्ष से पांच वर्ष तक की अवधि के लिए दी जाती है। इस अवधि के बाद नवीनीकरण के लिए आवेदन करना होता है। हमने एनओसी न होने पर 44 नर्सिंग होम को नोटिस भेजे हैं।

-सत्यवान सामरीवाल, अग्निशमन अधिकारी, फायर स्टेशन, सेक्टर-15ए।

अग्निशमन विभाग के पास हैं 13 गाड़ियां

एनआइटी फायर स्टेशन के पास 2, सेक्टर-15ए के पास 4, बल्लभगढ़ में 3 तथा सेक्टर-31 के पास 4 गाड़ियां हैं। एक हाइड्रोलिक प्लेटफार्म गाड़ी भी है, लेकिन इसका उपयोग नहीं हो पा रहा है। कारण यह है कि यह गाड़ी 10 वर्ष पुरानी है और नियमानुसार दस वर्ष से ज्यादा पुरानी गाड़ी का इस्तेमाल नहीं हो सकता है।