# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
घर में लगाएं सोलर प्लांट, सब्सिडी भी मिलेगी और बिजली भी बचेगी : उपायुक्त

करनाल : बिजली के भारी भरकम बिल को कम करने तथा ग्रीन एनर्जी को बढावा देने के लिए अक्षय उर्जा विभाग द्वारा स्थापित किए जाने वाले सोलर पावर प्लांट काफी मददगार साबित हो रहे है। सोलर पावर प्लांट से 90 प्रतिशत तक बिजली की बचत की जा सकती है। बिजली विभाग की तरफ से भी सोलर पावर प्लांट वाले घरेलू उपभोक्ताओं को एक रूपये प्रति यूनिट एवं संस्थाओं को 25 पैसे प्रति यूनिट की छूट दी जा रही है। सोलर पावर प्लांट पर अक्षय उर्जा विभाग की ओर से 30 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। उपरोक्त जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने दी। 
उन्होंने बताया कि सोलर पावर प्लांट से प्रतिदिन चार से पांच यूनिट की बचत होती है। यह सीधे नेट मीट्रिंग ऑनग्रिड के जरिये बिजली निगम के पावर हाउस में जाती है। यह सोलर पावर प्लांट लगभग 5 वर्ष में अपनी कीमत पूरी कर देता है। एडीसी ने बताया कि ग्रीन एनर्जी को बढावा देने के लिए हरियाणा सरकार की ओर से जिला स्तर के लघु सचिवालय स्थित सभी कार्यालयों में बिजली की बचत के लिए स्टार रेटिंग पंखे व एल0ई0डी ट्यूब लाइटे लगाई जा रही है। इसके साथ-साथ जिला करनाल मेें लघु सचिवालय सैक्टर 12 स्थित दोनो इमारतों की छत पर सोलर पावर प्लांट लगाने हेतू नींव तैयार की जा चुकी है, बहुत जल्द ग्रिड से जुडे हुए सोलर पावर प्लांट इन दोनो इमारतों पर लगाएं जाएंगे। इससे जहां एक ओर बिजली की बचत होगी वहीं ग्रीन एनर्जी को बढावा मिलेगा। 
बॉक्स
अब तक करनाल में यहां लगाएं जा चुके है - सोलर पावर प्लांट
ओ0पी0एस0, विद्या मन्दिर सैक्टर-13, करनाल       - 45 किलोवॉट
गुरू हरि$कृष्ण पब्लिक स्कूल सैक्टर-13, करनाल     - 50 किलोवॉट 
सर्व विद्या पब्लिक स्कूल, इन्द्री, मटक माजरी - 15 किलोवॉट
बॉक्स 
क्या कहते है परियोजना अधिकारी प्रवीन कुमार गिरधर
अक्षय उर्जा विभाग के परियोजना अधिकारी प्रवीन गिरधर ने बताया कि सोलर पैनलों से बनाए गए डॉयरेक्ट करंट को इन्वर्टर के माध्यम से अल्टरनेट करंट में बदलकर इस बिजली को इस्तेमाल में लाया जा सकता है तथा इसको नैट मीटरिंग के माध्यम से ग्रिड से जोड़ा जाता है। इस तरह से बनाई गई बिजली निजी प्रयोग के साथ-साथ अतिरिक्त बिजली वापिस ग्रिड में चली जाती है। यह अतिरिक्त यूनिट जो ग्रिड में वापिस गई है, उसे बिजली के बिल में समायोजित कर दिया जाता है, जिस पर एक रूपया प्रति यूनिट के हिसाब से प्रोत्साहन राशि बिजली विभाग द्वारा दी जाएगी। 
बॉक्स 
500 वर्ग गज के रिहायशी प्लांटो तथा शिक्षण संस्थानो पर सोलर पावर प्लांट लगाना जरूरी : निशांत कुमार यादव
सोलर पावर प्लांट के बारे में अतिरिक्त उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि 500 वर्ग गज के रिहायशी  प्लांटो तथा शिक्षण संस्थानो की छतो पर ग्रिड से जुडा हुआ  सोलर पावर प्लांट लगवाना सरकारी हिदायतों के अनुसार जरूरी कर दिया गया है। इस बारे में शिक्षण संस्थानो, हस्पतालो एवं होटलों में अक्षय उर्जा विभाग के परियोजना अधिकारी व सहायक परियोजना अधिकारी द्वारा भी ग्रीन पावर के फायदे बारे जागरूक किया जा रहा है।