News Description
बलिदान दिवस पर तय होगी आंदोलन की रणनीति : मलिक

 कुरुक्षेत्र : अखिल भारतीय जाट संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि 18 फरवरी 2018 को जिला स्तर पर बलिदान दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। बलिदान दिवस पर 36 बिरादरी को साथ जोड़ें। यदि सरकार उनकी मांगों को नहीं माना तो आगे की रणनीति बलिदान दिवस पर ही तय की जाएगी। अभी गेंद सरकार के पाले में है, सरकार अपने वादे से पीछे हट रही है। सरकार की ओर से जो जातिगत आंकड़े पेश किए गए हैं, वे सिर्फ कागजी हैं। जाट समाज ने भी अपने स्तर पर जाटों के पिछड़ेपन के साक्ष्य पिछड़ा वर्ग आयोग के समक्ष पेश करने की तैयारी कर ली है। यशपाल मलिक जाट धर्मशाला में आयोजित क्षेत्रीय कमेटी को संबोधित कर रहे थे। बैठक में समिति के वक्ताओं ने जाट युवाओं को शिक्षित बनने का आह्वान किया।