News Description
संविधान बदलने के वक्तव्य पर हेगड़े को करें बर्खास्त: राजबीर ¨सह

हिसार : बहुजन समाज पार्टी की जिलास्तरीय समीक्षा बैठक कुम्हार धर्मशाला में हुई। इसमें मुख्यातिथि के रूप में बसपा के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी राजबीर ¨सह ने शिरकत की, जबकि अध्यक्षता प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति ने की। कार्यक्रम की शुरुआत संविधान निर्माता बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर और बसपा संस्थापक साहब कांशीराम के चित्रों पर पुष्प अर्पित कर की गई। बैठक में पार्टी संगठन की समीक्षा करने के उपरांत भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए प्रदेश बसपा प्रभारी राजबीर ¨सह व प्रभारी एडवोकेट नेतराम ने कहा कि सदैव आरक्षण विरोधी बयान देने वाले अब सीधे संविधान पर प्रहार करने लगे हैं।

उन्होंने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी से सत्ता हासिल कर सरकार घमंड में आ गई है। डा. भीमराव अंबेडकर ने जो संविधान बनाया है वह सवा सौ करोड़ लोगों की भावना है। वर्तमान सरकार लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ करना बंद करे। पीएम मोदी को तुरंत केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े के वक्तव्य पर स्पष्टीकरण देते हुए देश की जनता से माफी मांगकर हेगड़े को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करना चाहिए। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा धर्म निरपेक्षता का उलंघन करते हुए आरक्षण, जात-पात और क्षेत्रवाद के नाम पर सांप्रदायिकता फैला रही है। हरियाणा में तीन साल की भाजपा सरकार ने तीन बार प्रदेश को दंगो में झोंककर सेना के हवाले किया है। सरकार घोषणाओं और घोटालों की सरकार बन चुकी है। भारती ने कांग्रेस को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता की सहायता से कार्यकर्ता मजबूत संगठन की बदौलत इनकी साइकिल और रथ को वक्त रहते रोक दें और बसपा का हाथी दौड़ाएं। बसपा हरियाणा की खुशहाली के लिए सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय की नीति पर कार्य करेगी। गलत नीतियों के चलते बिना निवेश, जिस सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी से व्यवहार व बाजार को ठप किया है। बसपा सबसे पहले सरकार बनने पर पहली कलम से इसी समस्या का समाधान करेगी। बसपा ने खट्टर सरकार से ओबीसी जातियों की जनगणना की मांग भी बैठक में उठाई। इस दौरान बैठक में विशिष्ठ अतिथि प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, जोन प्रभारी सुरेंद्र पंघाल, जिला प्रभारी बलराज सातरोडिया, सतबीर छिम्पा, जिलाध्यक्ष राजकपूर पाली, उपाध्यक्ष मेवा ¨सह घोड़ेला, जिला सचिव बजरंग इन्दल, शमशेर डाबड़ा, रामफल बौद्ध, हरि ¨सह बगला, र¨वद्र, हंसराज नियाना, कृष्ण सैनीपुरा, राजकुमार, अशोक बिश्नोई, अनिल कौशिक, डा. सुदामा बौद्ध, दयाचंद, रमेश, रामनिवास रायपुर, अमरचंद, विकास सातरोडिया, जगदीप, राजबीर, शंकर लाल, जितेंद्र मोटा, राजेश भारती, बलराज खेड़ी, संदीप मंगाली, दिलबाग डोभी, रमेश मिर्जापुर, तेलूराम अग्रोहा व अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।