News Description
शहर में चुनावों को लेकर बढ़ी सरगर्मी

 तावडू : शहर में निकाय चुनावों के चलते सर्दी के मौसम में भी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। विदित हो कि तावडू नगर पालिका का कार्यकाल आगामी 20 फरवरी को पूरा होने जा रहा है। जिसको लेकर जहां भी चार लोग इकट्ठा बैठते हैं वहां चुनावों की चर्चा नजर आ रही है।

हालांकि इस बार नई वार्डबंदी होने से पुराने सारे समीकरण बदले-बदले नजर आ रहे हैं। अबकी बार 13 की बजाय 15 वार्ड बना दिए गए हैं। जिसको लेकर पालिका प्रशासन ने भी अपने स्तर पर विभागीय कार्यवाही में तेजी ला दी है। पालिका प्रशासन भी लगातार इसी कोशिश में लगा हुआ है कि चुनाव अपने निश्चित समय पर ही कराए जाएं। इसके लिए पिछले दिनों हुई वार्डबंदी को लेकर जो आपत्तियां लोगों ने दर्ज कराई थी, उनके हिसाब से उनमें बदलाव भी किया जा रहा है। पहले की भांति अबकी बार भी तावडू में दो गुट अपने-अपने प्रभुत्व की लड़ाई लड़ने में सक्रिय हो गए हैं। यहां हुए अब के अधिकतर चुनावों में कई बार विधानसभा का चुनाव लड़ चुके बाबू  कुमार गुप्ता का ही वर्चस्व रहा है जो अबकी बार भी शहर की छोटी सरकार पर अपना ही सिक्का कायम रखना चाहेंगे।

चुनावों को लेकर जहां राजनैतिक लोग इनका बेसब्री से इंतजार करते हैं। वहीं आम लोग चुनावों के कारण आपस में लोगों के बीच दूरी बढ़ने की बात करते हैं। यहां के टीकमचंद गोयल,अनिल सेजवाल,सुरेश पंडित,धर्म ¨सह सहरावत,महाबीर मित्तल,सुरेंद्र अदलखा,राधे माथुर आदि का कहना है कि दूसरा झगड़ा चाहे कितना भी बड़ा क्यों न हो उसकी दूरी मिट जाती है पर चुनावों के दौरान हुआ मतभेद पूरे पांच साल तक बना रहता है।