News Description
सरकारी विभागों में दोबारा शुरू हुई कैशलेस योजना की कवायद

सोनीपत : जिले में करीब एक साल से ठंडे बस्ते में पड़ी कैशलेस योजना को दोबारा से लागू करने की कवायद एक बार फिर शुरू हो गई है। जिला प्रशासन से अब डिजिटाइजेशन को पूर्ण रूप से लागू करने के लिए दोबारा विभागों में कैशलेस योजना शुरू कर दी है। इसके लिए जहां ई-दिशा केंद्र में नकद भुगतान शुरू कर दिया है, साथ ही कैंपेन चलाने की योजना भी बनाई है ताकि लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जाए।

वर्ष 2016 में हुई नोटबंदी के बाद सरकार ने पैसे की किल्लत को देखते हुए कैशलेस योजना को शुरू किया था। इसके लिए जहां सरकारी विभागों व बैंकों में स्वाइप मशीन दी गई थी, साथ ही दुकानों, रेहड़ी व ऑटो रिक्शा में पेटीएम व भीम एप को शुरू किया गया था। प्रशासन ने आनन-फानन शहर की सब्जी को भी कैशलेस घोषित कर दिया था।

प्रशासन ने जितनी जल्दी से कैशलेस योजना को लागू करने का कार्य किया था, उतनी ही जल्दी यह योजना ठंडे बस्ते में चली गई थी। सरकारी विभागों में स्वाइप मशीन तकनीक कमी के कारण बंद हो गई और अन्य दुकानदारों व रेहड़ी संचालकों ने एप की जानकारी न होने की बात कहकर इसे बंद कर दिया। ऐसे में अब एक साल बाद भी इस योजना को सिरे चढ़ाने के लिए प्रशासन ने कवायद शुरू की है