News Description
जल्द बनेगा अत्याधुनिक मशीनों से लैस 500 बेड का एक इमरजेंसी ब्लॉक

रोहतक : स्वास्थ्य के क्षेत्र में जल्द ही लोगों को एक और सौगात मिलने वाली है। ट्रॉमा सेंटर के पीछे खाली पड़ी जगह पर जल्द ही अत्याधुनिक मशीनों से लैस पांच सौ बेड का एक इमरजेंसी ब्लॉक बनेगा। इसके लिए पीजीआइएमएस के कुलपति डा. ओपी कॉलरा ने प्रदेश सरकार को चिट्ठी भी लिखी है और मांग की है कि फरवरी 2018 में प्रदेश के लिए जारी होने वाले वार्षिक बजट में भी मंजूरी देने की गुहार लगाई है।

पीजीआइ प्रशासन ने अभी एक जनवरी 2018 से लाला शामलाल बि¨ल्डग के बगल स्थित धनवंतरि एपेक्स ट्रॉमा सेंटर को शुरु करने का निर्णय लिया। इस ट्रॉमा सेंटर में बृहस्पतिवार को बातचीत के दौरान कुलपति डा. ओपी कालरा ने बताया कि पीजीआइ की वर्तमान इमरजेंसी को धीरे-धीरे यहां शिफ्ट किया जाएगा। फिर, पीजीआइ की इमरजेसी को डिजास्टर वार्ड अर्थात आपदा वार्ड में तब्दील किया जाएगा। इसके साथ ही, नवनिर्मित ट्रॉमा सेंटर के पीछे पड़ी खाली जगह पर नया इमरजेंसी ब्लॉक तैयार किया जाएगा। छह मंजिला इस इमरजेंसी ब्लॉक में करीब 500 बेड की सुविधा होगी। इसकी लागत भी करीब 50 करोड़ होगी। चिकित्सा के क्षेत्र में यह अब तक का सबसे आधुनिक इमरजेंसी ब्लॉक होगा। ट्रॉमा सेंटर की खूबियों की बात करते हुए डा. ओपी कालरा ने बताया कि अभी इसमें करीब 106 बेड की सुविधा दी है। जिसे बढ़ाकर 120 किया जाएगा। वहीं, जब 500 बेड वाले इमरजेंसी ब्लॉक का निर्माण कर दिया जाएगा तो पूरे पीजीआइ में करीब 25 सौ बेड की व्यवस्था होगी।

वहीं, ट्रॉमा सेंटर के इंचार्ज डा. ईश्वर ¨सह ने बताया कि यहां पर आने वाले मरीज का निर्धारित गाइडलाइन के तहत ही इलाज किया जाएगा। इस अवसर पर डीन डा. एमसी गुप्ता, कुलसचिव डा. एचके अग्रवाल, प्राचार्य डा. संजय तिवारी, डा. कुंदन मित्तल, डा. प्रशांत कुमार, डा. संजय जौहर, डा. वीके कत्याल, डा. हरप्रीत सहित डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ मौजूद रहा।