News Description
लुधियाना से पहुंचे रागी स¨तद्र ने गुरु शब्दों से संगत को किया निहाल

अंबाला : लुधियाना से आए रागी स¨तद्र पाल ¨सह ने गुरु महाराज के शब्द कीर्तन व साहिबजादों की शहादत की कथा सुनाकर संगत को निहाल किया। यह मौका था बृहस्पतिवार छावनी के सदर क्षेत्र स्थित तीन गुरुद्वारों से निकाली गई भव्य प्रभातफेरी के पंजाबी गुरुद्वारा में समापन का। गुरुद्वारा साहिब में सुबह अखण्ड पाठ साहिब का भोग पाया गया, वहीं शब्द कीर्तन हुआ। सुबह के पांच प्यारों द्वारा निशान साहिब की अगुवाई में निकाली गई प्रभातफेरी विभिन्न गुरुद्वारों व गलियों से होकर गुजरी। गुरु गो¨बद ¨सह जी के छोटे साहिबजादे बाबा जोरावर ¨सह, बाबा फतेह ¨सह के शहीदी दिवस को समर्पित भव्य प्रभातफेरी में संगत भारी संख्या में पहुंची। निशान साहिब के स्वागत के लिए जगह-जगह श्रद्धालु खड़े रहे और फूल मालाएं पहनकर आशीर्वाद प्राप्त किया। संगत गुरु गो¨बद ¨सह के शब्दों व गुरबाणी का पाठ करते हुए गुजर रही थी। पंजाबी गुरुद्वारा में समापन होने के बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरीत किया। हर¨वद्र ¨सह नीटू ने बताया कि 31 दिसंबर को सुबह महान नगर कीर्तन निकाला जाएगा। जोकि सदर बाजार, क्वालिटी स्वीट्स, हलवाई बाजार, पुल चमेली, श्री सुखमणी सेवा सोसायटी से होते हुए कच्चा बाजार गुरुद्वारा भाट बिरादरी में समाप्त होगा। इस मौके पर गुरुद्वारा प्रधान बीएस ¨बद्रा, हरपाल ¨सह, परमजीत ¨सह, रमेश कुमार, अवतार ¨सह, सरबजीत ¨सह, सिमरन ¨सह, कुलवंत ¨सह, मनसा ¨सह व अन्य मौजूद रहे।