News Description
अंबाला-पंचकूला के 13 सौ कर्मी कल से छोड़ देंगे काम

अंबाला : छावनी के क्वालिटी सब डिवीजन से हटाए गए दो अनुबंधित कर्मचारी और एक स्थाई लाइनमैन के निलंबन के बाद से एचएसईबी वर्कर्स यूनियन पिछले 10 दिन से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है लेकिन उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम, अंबाला के आला अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया है। इसीलिए नया साल बिजली के उपभोक्ताओं के लिए मुसीबत खड़ी करेगा। अंबाला के साथ-साथ पंचकूला की करीब 17 सब डिवीजन में तैनात 13 सौ कर्मी 1 जनवरी से अपना काम छोड़ देंगे। यह फैसला अंबाला छावनी के एक्सईएन कार्यालय परिसर में यूनियन ने लिया है और प्रदेश महासचिव बाल किशन ने अधिकारियों को एक दिन यानि 29 दिसंबर तक का समय दिया है।

बता दें कि 12 दिसंबर को क्वालिटी सब डिवीजन में तैनात मीटर रीडर बलवंत यादव और अजय कुमार को उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने हटा दिया था लेकिन जब यूनियन नेता एसडीओ प्रियंक जागड़ा से बातचीत करने के लिए पहुंचे तो कहासुनी हो गई। दोनों पक्षों ने सदर थाने में गाली गलौच समेत अन्य आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर एक्सइएन ने लाइन और एचएसईबी वर्कर्स यूनियन के सब यूनिट वरिष्ठ उप प्रधान अनिल कुमार को निलंबित कर दिया था। इसके बाद से यूनियन पिछले 10 दिन से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। हड़ताल के चलते अंबाला छावनी के एक्सईएन कार्यालय के अंतर्गत आने वाले पांच सब डिविजनों में हड़ताल चल रही है और काम बंद किया हुआ है। यूनियन की मांग है कि तीनों कर्मियों को बहाल किया जाए। अंबाला छावनी के एक्सईएन कार्यालय में सर्कल स्तरीय धरने की अध्यक्षता बृहस्पतिवार को यूनियन के प्रदेश महासचिव बाल कुमार शर्मा और मुख्य संगठनकर्ता अशोक कुमार शर्मा ने की। प्रदेश महासचिव बाल कुमार शर्मा ने कहा कि यदि 29 दिसंबर तक मांग नहीं मानी गई तो सोमवार से सभी कर्मी अपना काम बंद कर देंगे।

दिनभर भटकते रहे लोग, बैरंग लौटे

यूनियन के आह्वान पर सब डिवीजन नंबर एक, क्वालिटी सब डिवीजन, बब्याल सब डिवीजन, केसरी और बराड़ा सब डिवीजन में हड़ताल के चलते पिछले 10 से कामकाज ठप पड़ा हुआ है। इसी वजह से लाखों बिजली के उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ी है लेकिन न तो यूनियन की हड़ताल खत्म हो रही है और न बिजली निगम के अधिकारी इस मामले में कोई हस्तक्षेप कर रहे हैं। अंबाला में बृहस्पतिवार को भी कामकाज नहीं हुआ है। जनता भटकती नजर आई।

एक्सईएन कार्यालय में गरजे कर्मी

छावनी के एक्सईएन कशिश मान के कार्यालय में यूनियन का सर्कल स्तरीय धरने का दूसरा दिन रहा। यूनियन प्रधान रुपेश शर्मा, सर्कल सचिव प्रदीप कुमार, अंबाला शहर यूनिट प्रधान अशोक कुमार और सचिव विकास मंगल ने कहा कि हड़ताल से यदि अंबाला व पंचकूला में औद्योगिक अशांति होती है तो इसका जिम्मेदार खुद बिजली निगम के अधिकारी होंगे।