News Description
एक घंटे में सात कष्टों का निवारण, पांच शिकायतें लंबित

अंबाला शहर : दो बार से ज्यादा बैठक से गैर हाजिरी रहने वाले अधिकारी खुद को अगली बैठक में सस्पेंड समझें। सोनीपत में हर बार कष्ट निवारण समिति की बैठक में 100 फीसदी उपस्थिति रहती है लेकिन अंबाला में बार-बार कहने के बावजूद अधिकारी इस मामले को समझ नहीं रहे हैं। जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में नौ अधिकारियों के नहीं पहुंचने पर अध्यक्ष परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कुछ इसी तेवर में बात की। मंत्री ने बैठक से नदारद रहने वाले इन अधिकारियों की रिपोर्ट भी डीसी से तलब की। सुबह साढ़े 11 बजे से लेकर दोपहर साढ़े 12 बजे तक चली बैठक में सात कष्टों का निवारण करने का दावा किया गया, जबकि पांच को अगली बैठक के लिए पें¨डग रखा गया। मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति की शिकायत को दो माह से ज्यादा पें¨डग न रखें। कष्ट निवारण समिति की साल की आखिरी और पहली बैठक ऐसी रही जिसमें कोई हंगामा नहीं हुआ। इतना ही नहीं, दो शिकायतकर्ता बैठक में अपनी शिकायत का समाधान होने का संतोष जताने पहुंचे थे। बैठक से डिस्ट्रिक एटोर्नी, महिला एवं बाल विकास अधिकारी, जिला होमगार्ड कमांडर, खजाना अधिकारी, कल्पना चावला पॉलीटेक्निक की ¨प्रसिपल, लेबर इंस्पेक्टर, राजकीय आइटीआइ ब्वायज ¨प्रसिपल अंबाला शहर, सहित दो अन्य अधिकारी नहीं आए।