News Description
कट ऑफ लिस्ट देख विद्यार्थियों के खिले चेहरे

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जिले के सभी कॉलेजों में बृहस्पतिवार सुबह पहली कट ऑफ लिस्ट लगाई गई। नोटिस बोर्ड पर जैसे ही लिस्ट चस्पा हुई वहां पहले से ही उमड़े विद्यार्थी अपना-अपना नाम ढूंढ़ने में जुट गए। जिन छात्रों के नाम लिस्ट में था वे तो खुशी से झूम उठे, वहीं जिनके नाम नहीं थे वे अब दूसरी लिस्ट का इंतजार करेंगे।

अधिकतर विद्यार्थियों का रुझान बीकॉम तथा बीएससी संकाय की तरफ रहा। लिस्ट में नाम देखने आए अशोक कुमार व अभय ने बताया कि 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने कॉलेज में बीकॉम संकाय में दाखिले के लिए नाम पंजीकृत कराया था। उनको जैसे ही पता लगा कि लिस्ट लग चुकी है, वह तुरंत पहुंच गए। भीड़ के चलते थोड़ी बहुत परेशानी हुई, लेकिन वह खुश है, क्योंकि उनका नाम लिस्ट में आया हुआ है। अब वह कालेज में पढ़ाई कर सकेंगे। इसी तरह से संगीता, रितू, अर्चना, सुमन, सोनिया ने बताया कि उनकी विज्ञान में रुचि रही है। इसलिए उन्होंने बीएससी में अपने नाम पंजीकृत कराए थे। 12वीं में उनके नंबर बहुत अच्छे आए हैं। उनको उम्मीद पहले से ही थी कि उनका नाम लिस्ट में आएगा।ऐसा हुआ भी। उनके नाम सूची में लिखे हुए थे। अब दाखिला होते ही वह मेहनत के साथ पढ़ाई करेंगे।

यह रही प्रतिशत

डीएवी कालेज यमुनानगर में बीए प्रथम वर्ष के लिए अधिकतम 89.8 प्रतिशत अंक रहा तथा न्यूनतम 43.6 पर सिमट गया। इसी तरह बीएससी मेडिकल में अधिकतम 106 प्रतिशत इस छात्रा को आठ प्रतिशत अलग से वैटेज नंबर दिए गए व न्यूनतम 67.8 प्रतिशत रहा। नान मेडिकल में 99 प्रतिशत अंक से शुरू होकर 76.6 प्रतिशत रहा। इसके साथ ही कंप्यूटर साइंस में 98.8 प्रतिशत से 57 तक रहा।

डीएवी कॉलेज साढौरा में बीए प्रथम वर्ष के लिए अधिकतम 85.4 तथा न्यूनतम 44.2 प्रतिशत अंक रहा। बीकॉम 88.2 से 45.8 व बीएससी नान मेडिकल में 88.4 से 47 प्रतिशत रहा।

राजकीय महाविद्यालय छछरौली में बीए प्रथम वर्ष 94.8 से 43.2 तथा बीकॉम में 88 प्रतिशत से 54.4 प्रतिशत रहा। बीएससी मेडिकल में 88.4 से 55 तथा नान मेडिकल में 95.6 से 67 प्रतिशत रही।

: गुर्जर कन्या महाविद्यालय देवधर में बीए प्रथम वर्ष 90.2 से 50 प्रतिशत रहा। इसके साथ ही बीएससी नान मेडिकल 88.4 से 57.2 प्रतिशत तक रहे। बीकॉम में 93.4 से शुरू होकर 59.2 प्रतिशत तक रही।

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जिले के सभी कॉलेजों में बृहस्पतिवार सुबह पहली कट ऑफ लिस्ट लगाई गई। नोटिस बोर्ड पर जैसे ही लिस्ट चस्पा हुई वहां पहले से ही उमड़े विद्यार्थी अपना-अपना नाम ढूंढ़ने में जुट गए। जिन छात्रों के नाम लिस्ट में था वे तो खुशी से झूम उठे, वहीं जिनके नाम नहीं थे वे अब दूसरी लिस्ट का इंतजार करेंगे। अधिकतर विद्यार्थियों का रुझान बीकॉम तथा बीएससी संकाय की तरफ रहा। लिस्ट में नाम देखने आए अशोक कुमार व अभय ने बताया कि 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने कॉलेज में बीकॉम संकाय में दाखिले के लिए नाम पंजीकृत कराया था। उनको जैसे ही पता लगा कि लिस्ट लग चुकी है, वह तुरंत पहुंच गए। भीड़ के चलते थोड़ी बहुत परेशानी हुई, लेकिन वह खुश है, क्योंकि उनका नाम लिस्ट में आया हुआ है। अब वह कालेज में पढ़ाई कर सकेंगे। इसी तरह से संगीता, रितू, अर्चना, सुमन, सोनिया ने बताया कि उनकी विज्ञान में रुचि रही है। इसलिए उन्होंने बीएससी में अपने नाम पंजीकृत कराए थे। 12वीं में उनके नंबर बहुत अच्छे आए हैं। उनको उम्मीद पहले से ही थी कि उनका नाम लिस्ट में आएगा।ऐसा हुआ भी। उनके नाम सूची में लिखे हुए थे। अब दाखिला होते ही वह मेहनत के साथ पढ़ाई करेंगे। यह रही प्रतिशत डीएवी कालेज यमुनानगर में बीए प्रथम वर्ष के लिए अधिकतम 89.8 प्रतिशत अंक रहा तथा न्यूनतम 43.6 पर सिमट गया। इसी तरह बीएससी मेडिकल में अधिकतम 106 प्रतिशत इस छात्रा को आठ प्रतिशत अलग से वैटेज नंबर दिए गए व न्यूनतम 67.8 प्रतिशत रहा। नान मेडिकल में 99 प्रतिशत अंक से शुरू होकर 76.6 प्रतिशत रहा। इसके साथ ही कंप्यूटर साइंस में 98.8 प्रतिशत से 57 तक रहा। डीएवी कॉलेज साढौरा में बीए प्रथम वर्ष के लिए अधिकतम 85.4 तथा न्यूनतम 44.2 प्रतिशत अंक रहा। बीकॉम 88.2 से 45.8 व बीएससी नान मेडिकल में 88.4 से 47 प्रतिशत रहा। राजकीय महाविद्यालय छछरौली में बीए प्रथम वर्ष 94.8 से 43.2 तथा बीकॉम में 88 प्रतिशत से 54.4 प्रतिशत रहा। बीएससी मेडिकल में 88.4 से 55 तथा नान मेडिकल में 95.6 से 67 प्रतिशत रही। : गुर्जर कन्या महाविद्यालय देवधर में बीए प्रथम वर्ष 90.2 से 50 प्रतिशत रहा। इसके साथ ही बीएससी नान मेडिकल 88.4 से 57.2 प्रतिशत तक रहे। बीकॉम में 93.4 से शुरू होकर 59.2 प्रतिशत तक रही।