News Description
जिला परिषद की बैठक को सम्बोधित करते जिला परिषद की चेयरपर्सन आशु शेरा

पानीपत, 28 दिसम्बर।   पंचायती राज संस्थाएं भारतीय लोकतंत्र की प्राथमिक इकाई हैं। इसी के दृष्टिगत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने ग्रामीण विकास को गति देने और ग्रामीण क्षेत्र की अधिकतर समस्याओं का समाधान पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से करवाने के लिए ही पंचायती राज की अवधरणा का समर्थन किया। आज पंचायती राज संस्थाएं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पं0 दीन दयाल उपाध्याय  और भारत के प्रथम गृह मंत्री स0 बल्लभ भाई पटेल के बताए मार्ग पर चलते हुए स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को साकार करने का कार्य कर रही हैं। जिला परिषद पानीपत ग्रामीण क्षेत्र की उल्लेखनीय कार्य करने वाली सभी ब्लॉक समितियों, ग्राम पंचायतों, समाजसेवी संस्थाओं और प्रतिभाशाली विद्यार्थियों और खिलाडिय़ों को जिला परिषद के वार्ड स्तर पर सम्मानित कर रही है।  ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से विकास करवाने के लिए सरकार की ओर से 5.5 करोड़ रूपये की राशि मिली थी जिसे विकास कार्यो पर खर्च किया जा चुका है। 
यह जानकारी जिला परिषद की चेयरपर्सन आशु शेरा ने लघु सचिवालय के द्वितीय तल सभागार में आयोजित जिला परिषद की जिला स्तरीय बैठक को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ग्रामीण क्षेत्र के विकास को उच्च प्राथमिकता दे रही है। उन्होंने कहा कि जिला के सभी 6 विकास खण्डों में नए और पुराने मोबाईल टावरों की नवीनतम सूची तैयार की जा रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विकास खण्ड मडलौडा में गऊ अभ्यारण की प्रगति की रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत की जाए और गांव पट्टी कल्याणा में जिला परिषद की भूमि की निशानदेही करवाई जाए। 
उन्होंने कहा कि हरियाणा का ग्रामीण क्षेत्र खेलों और खिलाडिय़ों की जननी है। प्रति वर्ष ग्रामीण क्षेत्र के प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों को भी जिला परिषद की ओर से सम्मानित किया जाएगा और जिला शिक्षा अधिकारी से दसवीं व बारहवीं के प्रतिभाशाली छात्रों की रिपोर्ट मांगी गई है। उसके आधार पर इन छात्रों को भी सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा सरकारी स्कूलों में जहां कही भी जिस भी वस्तु की जरूरत होगी वह जिला परिषद की ओर से उपलब्ध करवाई जाएगी और प्रत्येक वार्ड के 3 ऐसे स्कूलों को सम्मानित किया जाएगा जहां सभी सुविधाएं हैं और शिक्षा का स्तर अन्य स्कूलों से बेहतर है ताकि ग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवारों के हौनहार छात्रों को भी शिक्षा की बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। बैठक को जिला परिषद के सीईओ डा0 संजय कुमार व डीप्टी सीओ जसविन्द्र सिंह ने भी