News Description
किन्नरों ने कलश यात्रा निकालकर लोगों के लिए मांगी दुआएं

 कुरुक्षेत्र : लाडवा में इकट्ठा हुए किन्नर समाज ने बुधवार को लाडवा शहर में शोभा यात्रा निकाली। विभिन्न राज्यों से आए सैंकडों किन्नरों ने पूरी ठसक के साथ शोभा यात्रा में भाग लिया। ऐसी अनूठी व शानदार शोभायात्रा को देखने के लिए सड़कों पर लोगों की भीड़ लग गई। किन्नरों ने भी पूरे रास्ते के दौरान नाच-गाकर अपनी खुशी व्यक्त की। कलश यात्रा शहर के रादौर रोड स्थित एक निजी पैलेस बैंड-बाजे व ढोल-ताशे के साथ से शुरू हुई। शोभा यात्रा में दूल्हा व दुल्हन की तरह सोलह श्रृंगार किए हुए दो किन्नरों ने शोभायात्रा की अगुवाई की तो उनके साथ एक किन्नर ने क्लश उठा रखा था। साथी किन्नरों ने दूल्हा-दुल्हन व क्लशधारी किन्नर के ऊपर जमकर नोट उड़ाए।

निजी पैलेस से रादौर रोड होते हुए क्लश यात्रा ने रेड रोड से शहर में प्रवेश किया और इंद्री चौक, संगम मार्केट, मेन बाजार, सराफा बाजार, बजाजा बाजारव खेड़ा मार्केट होते हुए शोभायात्रा निजी पैलेस में सम्पन्न हुई। बैंड-बाजे की धुन पर जमकर थिरकते हुए किन्नरों ने लोगों का मन मोह लिया। शहरवासियों ने शोभा यात्रा पर फलों की पंखुड़ियों की वर्षा करके किन्नरों का जगह-जगह स्वागत किया। क्लश यात्रा के दौरान किन्नरों ने नगरखेड़ा मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना करके शहरवासियों, देश व समाज की खुशहाली के लिए दुआएं मांगी। इसके बाद एक कुम्हार के घर जाकर चाक पूजन किया और वार्ड 11 स्थित दुखभंजन शिव मंदिर में जाकर घंटा चढाया। निजी पैलेस में सभी किन्नरों के लिए विशेष दावत का प्रबंध किया गया था। अखिल भारतीय किन्नर सममेलन के आयोजक महंत रमेश नायक ने बताया कि दादा गुरू हबीब व गुरू रानी मंहत की याद में किन्नर समाज का भोज होगा और सम्मेलन में देश व समाज की सुखसमृद्धि व शहरवासियों की तरक्की के लिए दुआएं की जाएंगी। उन्होंने बताया कि किन्नर सम्मेलन में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उतराखंड, पश्चिमी बंगाल, गुजरात, आंध्रप्रदेश, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश व महाराष्ट्र सहित विभिन्न प्रदेशों के किन्नर आए हुए हैं।