News Description
लाइन लॉस रोकने के लिए शहरों में भी लग रहे लंबे-लंबे कट, फिर भी नहीं रुकी बिजली चोरी

जींद : जिले में लगातार बढ़ रहे बकाया राशि और बिजली चोरी को निगम काफी प्रयासों के बावजूद रोक नहीं पा रहा है। लाइन लॉस के नाम पर इस साल निगम ने शहरों में भी लंबे-लंबे कट लगाए, लेकिन इसके बावजूद बिजली चोरी की घटनाओं में कमी नहीं आई। इससे उल्ट नियमित रूप से बिल भरने वाले उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा।

गांवों में ज्यादातर कनेक्शनधारक बिल नहीं भरते हैं, जिससे निगम का घाटा लगातार बढ़ रहा है। जिले में निगम का बकाया बिलों की राशि साढ़े 1472 करोड़ रुपये से ऊपर जा चुकी है, जिसमें से ज्यादातर बकाया ग्रामीणों पर है। शहरी उपभोक्ता बिल तो भरते हैं, लेकिन काफी लोग ज्यादा बिल न आए, इसके लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हैं। कई शहरी फीडरों पर लाइन 50 प्रतिशत से भी ज्यादा है। इस लाइन लॉस को कम करने के लिए निगम ने जींद शहर में दो बार लाइन लॉस वाले फीडरों पर दो से चार घंटे के कट लगाने शुरू किए हैं, लेकिन इससे बिजली चोरी पर ज्यादा असर दिखाई नहीं दिया। इसके अलावा नरवाना और सफीदों के शहरी क्षेत्रों में लाइन लॉस के नाम पर कट लगाए जा रहे हैं। शहर में इन कटों से सरकारी विभागों में भी रूटीन के काम प्रभावित हुए