News Description
कंप्यूटर आपरेटरों की हड़ताल से कार्यालयों का कामकाज ठप

 नूंह : बुधवार को जिले के कंप्यूटर आपरेटरों की हड़ताल से तहसील, एसडीएम आफिस सहित अन्य कार्यालयों का कामकाज ठप रहा। सुबह नौ बजे से शुरू हुई कंप्यूटर आपरेटरों की हड़ताल दोपहर बाद ढाई बजे तक जारी रही।

इस दौरान कंप्यूटर आपरेटरों की यूनियन कंप्यूटर प्रोफेशनल संघ की कमेटी उपायुक्त अशोक शर्मा से मिली। उपायुक्त के आश्वासन के बाद जिले के कंप्यूटर आपरेटरों ने हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया। करीब तीन बजे सभी कंप्यूटर आपरेटर अपने काम पर लौट गए। तब जाकर कार्यालयों में पहुंचे लोगों को थोड़ी राहत मिली।

 

 नूंह लघु सचिवालय में सीएम ¨वडो और एनआइसी में तैनात दो कंप्यूटर आपरेटरों को एसडीएम डॉ. मनोज कुमार ने तुरंत प्रभाव से हटा दिया था। मामला यह था कि सीएम ¨वडो में तैनात कंप्यूटर आपरेटर जुबेर ने शिकायतों में लापरवाही की है। वहीं एनआइसी में तैनात कंप्यूटर आपरेटर अब्बास ने फीस में हेराफेरी की है। दोनों की जांच एसडीएम डॉ. मनोज कुमार ने की। इन कंप्यूटर आपरेटरों ने आरोप लगाया कि एसडीएम ने उनका पक्ष सुने बिना ही उन्हें नौकरी से हटा दिया है। जबकि उन्होंने कोई लापरवाही नहीं की।

इस बाबत दोनों कंप्यूटर आपरेटर एसडीएम से भी मिले लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। इसके बाद कंप्यूटर प्रोफेशनल संघ दोनों कंप्यूटर आपरेटरों के बचाव में उतरी। इसी को लेकर बुधवार को जिले के करीब चालीस कंप्यूटर आपरेटर सुबह नौ बजे से ही हड़ताल पर बैठ गए।