# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
मंत्री ने किया था सस्पेंड, सरपंच के पक्ष में आई 24 गांवों की पंचायतें

फतेहाबाद: रविवार को लघुसचिवालय में आयोजित कष्ट निवारण समिति की बैठक में राज्यमंत्री कृष्ण बेदी द्वारा गांव बनमंदोरी के सरपंच सुरेंद्र ¨सह को सस्पेंड किया जाने के मामले में 24 गांव के सरपंच और ग्रामीण राज्य मंत्री के फैसले के खिलाफ एकजुट हो गए हैं। बुधवार को राज्यमंत्री के फैसले को निरस्त करने की मांग को लेकर 24 गांव के सरपंच और ग्रामीण डीसी से मिलने पहुंचे। सस्पेंड किए गए सरपंच सुरेंद्र ¨सह ने आरोप लगाया कि राजनीतिक द्वेष के चलते यह कार्रवाई की गई है, लेकिन अभी तक उसे लिखित आदेश नहीं मिले हैं और समाचार पत्रों के माध्यम से ही पता चला है।

सरपंच एसोसिएशन प्रधान बंसीलाल के नेतृत्व में विभिन्न गांवों के सरपंच और ग्रामीणों ने बनमंदोरी के सरपंच सुरेंद्र ¨सह के पक्ष में उपायुक्त को कहा कि सरपंच द्वारा पूरी ईमानदारी से विकास कार्य करवाये जा रहे है और किसी तरह की गड़बड़ी कोई शिकायत ग्रामीणों को नहीं है। डीसी से मिलने वाले ग्रामीणों ने बताया कि राज्यमंत्री ने जिन लोगों की शिकायत पर सरपंच के खिलाफ आदेश दिया है वे लोग खुद गांव पंचायती जमीन पर कब्जाधारी हैं। इस बाबत एक केस डीडीपीओ फतेहाबाद की कोर्ट में विचाराधीन है लेकिन इस बीच राज्यमंत्री ने ब्लॉक समिति चेयरमैन के कहने पर राजनीतिक रंजिश में सरपंच को सस्पेंड करने का आदेश दिया है। ऐसे में डीसी से मांग करते हुए ग्रामीणों ने कहा कि राज्यमंत्री के आदेशों को निरस्त किया जाए और अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो गांव वाले व सरपंच एसोसिएशन विरोध की रणनीति अपनाएगी। सरपंच सुरेंद्र ¨सह ने कहा कि कुछ लोगों ने मेरे खिलाफ सीएम ¨वडो में शिकायत लगाई थी। शिकायत के संदर्भ में निशानदेही करवाकर केस डीडीपीओ फतेहाबाद की कोर्ट में दायर कर रखा है। जिसका अभी तक निर्णय नहीं आया है तथा ग्राम पंचायत बनमंदोरी का 80 फीसदी फंड कार्यों में लग चुका है तथा तीन कार्य चल रहे हैं। 25 दिसंबर को समाचार पत्र द्वारा ही पता चला है कि सस्पेंड कर दिया गया है लेकिन यह गलत है। जिन लोगों ने शिकायत दे रखी है उन्होंने खुद जोहड़ की जमीन पर कब्जा कर रखा है।