News Description
जेल में टीवी देखकर दिन काट रही हनीप्रीत, वापस अपने रूप में लौटी

अंबाला सेंट्रल जेल में अपने दिन काट रही हनीप्रीत अब अपने रंग रूप में नजर आने लगी है। इसके साथ वह अधिकतर टीवी के सामने बैठी नजर आती है। दरअसल, सेंट्रल जेल में राज्य महिला आयोग की वाईस चेयरमेन व महिला आयोग की सदस्य ने जेल का औचक निरीक्षण किया। जहां महिला कैदियों से उनकी समस्याएं जानी। इस दौरान महिला आयोग की वाईस चेयरमेन व सदस्य ने हनीप्रीत से भी बातचीत की।हनीप्रीत ने उन्हें बताया कि उसने 2 मोबाईल नम्बर बातचीत के लिए दिए थे लेकिन नम्बर वेरीफाई नही किया गया उसे बात करने में दिक्कत आ रही है।

राज्य महिला आयोग की सदस्य नम्रता गौड़ ने बताया कि, हनीप्रीत से उन्होंने जेल में बातचीत की। हनीप्रीत ने बताया कि उसने जेल प्रशासन को 2 मोबाईल नम्बर बातचीत के लिए दिए थे लेकिन वो अभी तक वेरीफाई नहीं किए गए हैं, जिसकी वजह से उसे बात नहीं करने दी जा रही है। महिला आयोग ने चिट्ठी को लेकर भी हनीप्रीत से बात की, जिसमें उसने बताया कि खाते खुलवाने को लेकर उसने जेल प्रशासन को कोई चिट्ठी नहीं लिखी। इस बात को लेकर अपने वकील से केवल बात की थी। उसके इलावा हनीप्रीत को जेल में कोई दिक्कत नही है वे ठीक से रह रही है। 


सूत्रों के मुताबिक,  हनप्रीत जेल में अच्छे से रह व खा रही है, वो अधिकतर समय टीवी देखन में अपना समय व्यतीत करती। उसका बैरक अलग है लेकिन खास नहीं। हनीप्रीत अपने पुराने रूप में जेल में दिखने लगी है जैसी वो बाहर दिखा करती थी। 

वहीं राज्य महिला आयोग की वाईस चेयरमेन ने बताया कि जेल अलग अलग तरह की समस्याएँ उनके सामने आई हैं जिन्हें दूर करने के लिए जेल प्रशासन को कहा गया है। जेल में बंद महिला कैदियों से महिला आयोग की सदस्य नम्रता गौड़ ने भी बातचीत की। उन्होंने बताया कि जेल में बंद महिला बुजुर्ग कैदियों व विधवा महिला कैदियों को पेंशन को लेकर सबसे बड़ी समस्या आ रही है।