# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
रजिस्टर्ड वाहनों में 50 फीसद पर नहीं लगी हाई सिक्योरिटी प्लेट

रोहतक: अगर आपने अपने वाहन में हाई सिक्योरिटी रजिस्टर्ड प्लेट नहीं लगवाई तो अब आपके वाहन का चालान काटा जाएगा। पहली बार चालान कटता है तो सौ रुपये जुर्माना भुगतना पड़ेगा लेकिन दूसरी बार भी पकड़े गए तो तीन सौ रुपये का जुर्माना लगेगा।

इसके लिए जल्द ही परिवहन विभाग की ओर से अभियान शुरु होगा। इस संबंध में परिवहन विभाग के मुख्यालय की ओर से आरटीए कार्यालय के अधिकारियों के पास आदेश भी जारी हो गए हैं। वहीं, अभी तक रजिस्टर्ड हुए वाहनों में से करीब 50 फीसद में हाई सिक्योरिटी रजिस्टर्ड प्लेट नहीं लगी हुई हैं।

प्रदेश में मई 2012 से हाई सिक्योरिटी रजिस्टर्ड प्लेट की योजना लागू है। परिवहन विभाग से जारी हुए आदेश के मुताबिक, एक जनवरी 2016 से उन वाहनों के चालान काटे जाएंगे, जिनमें हाई सिक्योरिटी रजिस्टर्ड प्लेट नहीं लगी होती हैं। अब आदेश जारी होने के बाद कुछ समय तक तो सख्ती बरती गई लेकिन फिर से सब सामान्य हो गया। अब परिवहन विभाग की ओर से 13 दिसंबर को जारी हुए आदेश के मुताबिक, फिर से उन वाहनों के चालान काटे जाएंगे, जिन पर हाई सिक्योरिटी रजिस्टर्ड प्लेट नहीं लगी हुई हैं। इसमें निर्देश दिया गया है कि मोटर व्हीकल एक्ट 1998 के हिसाब से धारा 177 के तहत चालान काटा जाएगा। इसके हिसाब से पहली बार बिना रजिस्टर्ड प्लेट पकड़े जाने वालों पर सौ रुपये का जुर्माना होगा लेकिन अगर दूसरी बार भी पकड़े गए तो तीन सौ रुपये तक जुर्माना भरना पड़ेगा।

वहीं, इससे ज्यादा बार पकड़े जाने पर परिवहन विभाग के अधिकारी दूसरी कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं। इसलिए अब वाहनों पर हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट लगवाना जरूरी होगा। वहीं, आंकड़ों की मानें तो अभी तक जितने भी वाहन आरटीए में रजिस्टर्ड हुए हैं, उनमें से करीब 50 फीसद वाहनों में यह प्लेट नहीं लगी हुई हैं। जबकि ये प्लेट बन कर तैयार हैं और लगाने वाली एजेंसी के पास ही पड़े-पड़े धूल फांक रही हैं।