# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
फार्म-6 जमा करवाने में आना-कानी करने पर निजी स्कूलों की मान्यता होगी रद

रोहतक : फार्म-6 का जमा करवाने में आना-कानी करने वाले निजी स्कूलों की मान्यता रद हो सकती है। हालांकि इससे पहले उनको अंतिम चेतावनी देते हुए शिक्षा विभाग उनको रिमांडर भेजेगा। उसके बावजूद भी निजी स्कूलों ने मनमानी की तो फिर उन पर शिक्षा विभाग की गाज गिरना तय है। बिना फार्म-6 जमा कराए, कोई भी निजी स्कूल नए सत्र में फीस नहीं बढ़ा सकता है। अगर कोई स्कूल फीस बढ़ाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

जिले के उन निजी स्कूलों के लिए शिक्षा विभाग अब अंतिम रिमांडर भेजेगा, जिन्होंने अभी तक अपने स्कूलों की फीस और अन्य विवरण विभाग को मुहैया नहीं कराए हैं। जिन स्कूलों ने अभी तक फॉर्म-6 जमा नहीं कराए हैं, उनको 31 दिसंबर तक अपने स्कूलों की समस्त जानकारी विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड करनी है। शिक्षा विभाग की ओर से किए गए निर्धारित समय तक भी निजी स्कूलों ने इसमें कोई ढिलाई बरती तो उनको इसका खामियाजा खुद ही भुगतना होगा। फार्म-6 को लेकर विभाग भी सख्त हो चला है और मनमानी करने वाले किसी भी स्कूल के प्रति कोई रियायत बरतने के मूड़ में नजर नहीं आ रहा है।

क्या है फार्म-6

हरियाणा शिक्षा नियमावली 2003 के अधिनियम 158 के तहत प्रत्येक निजी स्कूल को नए शैक्षणिक सत्र का फीस संबंधी ब्यौरा फार्म-6 में भरकर विभाग में भेजना होता है। हालांकि तकनीकी विकास के चलते अब यह ब्यौरा आनलाइन भेजना होता है। इस फार्म में स्कूल की बैलेंस शीट, फीस व निधियों आदि का अलग-अलग विवरण विवरण दिखाया जाता है। फार्म-6 में विद्यार्थियों के नए शैक्षणिक सत्र व उनसे ली जाने वाली फीस का ब्यौरा भी विभाग को देना होता है। बता दें कि रोहतक में 400 से अधिक निजी स्कूल हैं। जिन्होंने 31 दिसंबर तक फार्म-6 भरना है। फार्म- 6 भरने की यह प्रक्रिया आनलाइन चल रही है।