# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
तीन दिन के लगातार अवकाश के बाद सिविल अस्पताल में मरीजों की कतार

पानीपत: तीन दिन के लगातार अवकाश के बाद बुधवार को सिविल अस्पताल में मरीजों को इलाज मिलना शुरू हुआ तो रजिस्ट्रेशन विंडो से दवा खिड़की तक मरीजों की कतार लग गई। विंडो बंद होने तक ओपीडी की संख्या 800 से पार चली गई। व्यवस्था न बिगड़े, सिविल सर्जन भी निरीक्षण करते दिखे।

24 दिसंबर का रविवार, 25 का क्रिसमस डे और 26 को शहीद ऊधम सिंह की जयंती होने के कारण सिविल अस्पताल में लगातार तीन दिन ओपीडी बंद रही। बुधवार को अस्पताल में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए मरीज सुबह 8 बजे से ही कतार में लग गए। एक-डेढ़ घंटे कतार में लगने के बाद मरीजों को ओपीडी के बाहर भी लाइनों में लगना पड़ा। जैसे-तैसे ओपीडी में नंबर आया तो दवा के लिए लंबी कतार में खड़ा रहना पड़ा। सर्दी का मौसम, वातावरण में कोहरा और धुंध होने के कारण सबसे ज्यादा भीड़ खासी-जुकाम, बुखार व सांस के रोगियों की देखी गई।

हालात बेकाबू न हो जाएं, सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा व डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. नवीन सुनेजा ने पर्चा व दवा विंडो का निरीक्षण किया। कर्मचारियों को धैर्य न खोने की नसीहत देते हुए, मरीजों से अच्छा व्यवहार करने के निर्देश दिए।

पर्चा और दवा विंडो पर भीड़ को बेकाबू होते और कतार तोड़ते मरीजों को देख सिविल सर्जन ने बताया कि स्टील के पाइपों से बेरिकेटिंग कराई जाएगी। मरीज और तीमारदार बेरिकेटिंग के दायरे में रहकर, कतार में आगे बढ़ते जाएंगे।