News Description
पानी की सप्लाई पूरी, फिर भी कई कॉलोनियों की प्यास अधूरी

कुरुक्षेत्र :जनस्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शहर में प्रति व्यक्ति दोगुना पानी सप्लाई हो रहा है, लेकिन फिर भी जिले की कई कॉलोनियों की प्यास अधूरी है। गर्मियां तो दूर सर्दियों में भी कुछ कॉलोनियों के लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस जाते हैं। कई कालोनियों में पानी छत पर रखी टंकी तक पहुंचना तो दूर की बात है नल के गले तक नहीं पहुंच पाता। ऐसे में लोग पूरी तरह से टुल्लू पंप के ऊपर आश्रित हैं। हर नहाने से लेकर रसोई में पानी के हर छोटे-छोटे काम के लिए टुल्लू पंप का प्रयोग करना पड़ता है।कुटिया वाली गली, विष्णु कॉलोनी, चक्रवर्ती मोहल्ला, महादेव मोहल्ला, गांधी नगर में पानी की किल्लत रहती है। जबकि कल्याण नगर में गर्मी हो या फिर सर्दी हर मौसम में पानी की किल्लत रहती है। पेयजल के मामले में कल्याण नगर सबसे उपेक्षित रहा है, जहां स्वीकृति के बाद भी नया ट्यूबवेल लगने में सवा साल बीत गया और जो ट्यूबवेल लगा वह भी कम मोटर वाला, जिससे पेयजल की समस्या जस की तस बनी रही। मामला जब उठा तो बड़ी मोटर लगाने की बात जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मान भी गए। मगर अब भी कई कॉलोनियों में गर्मी शुरू होते ही पेयजल का संकट गहराने लगते हैं।

जब फेल हो गए थे 60 के 60 सैंपल

पेयजल सप्लाई के मामले में जनस्वास्थ्य विभाग पर गर्मियों में खूब अंगुली उठी। सबसे बड़ा मामला तब उठा जब स्वास्थ्य विभाग ने जनवास्थ्य विभाग द्वारा सप्लाई हो रहे पेयजल के 60 सैंपल लिए और 60 के 60 फेल हो गए। पानी में क्लोरिनेशन कम पाई गई। हालांकि जब मामला उठा तो जनस्वास्थ्य विभाग और स्वास्थ्य विभाग ने संयुक्त जांच अभियान चलाया उस पर भी दोनों विभाग में काफी हद तक सहमति नहीं बनी। मगर क्लोरिनेशन सही करने की बात कहकर दोनों विभाग ने मामला वहीं पर निपटा दिया। इधर, सारा साल गंदगीयुक्त जल सप्लाई भी जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और लोगों के लिए बड़ी परेशानी की समस्या बना रहा। गंदगीयुक्त पानी की सप्लाई को लेकर विष्णु कॉलोनी, चक्रवर्ती मो