News Description
मकान ढहाते समय खंभे के नीचे दबने से मजदूर की मौत

 पानीपत: सुखदेव नगर में मंगलवार दोपहर को पुराने मकान को ढहाते समय पिलर के नीचे दबने से मजबूर की मौत हो गई। उसके साले सहित दो मजदूर बाल-बाल बचे। घटना करीब 1:30 बजे की है।

ठेकेदार दीपक राण, राजेश, कृष्ण और अजमेर ने सुखदेव नगर के रमेश ढींगड़ा के मकान को तोड़ने का ठेका ले रखा है। एक महीने से काम चल रहा था। काम मंगलवार को खत्म हो जाना था। श्रमिक संदीप ने बताया कि वह दूसरी जगह काम कर रहा था। उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर के मनडौर गांव का 27 वर्षीय शिवकुमार, पिलर तोड़ रहा था। साथ में शिव कुमार का साला रामअवतार व एक अन्य श्रमिक भी काम कर रहे थे। घन की चोट से पिलर नीचे गिरा और उसके सरिये शिवकुमार के जबड़े में घुस गए। रामअवतार व दूसरा श्रमिक बाल-बाल बचे। उसने घायल शिवकुमार को पीलर के नीचे से निकाला और सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने शिवकुमार को मृत घोषित कर दिया।

जीजा की मौत की जानकारी मिले ही बेहोश हो गया रामअवतार : सामान्य अस्पताल की इमरजेंसी गेट के बाहर खड़ा रामअवतार विलाप कर बार-बार श्रमिक साथियों से पूछा रहा था कि उसके जीजा की तबीयत कैसी है। श्रमिक उसे अंदर नहीं जाने दे रहे थे। वे सांत्वना दे रहे थे कि शिवकुमार ठीक है। वह फोन कर परिजनों को बता रहा था कि जीजा को चोट लगी है जल्द अस्पताल आ जाएं। जैसे ही एक श्रमिक ने रामअवतार को बताया कि शिवकुमार की मौत हो गई है, तभी वह बेहोश हो गया।

उसके मुंह पर पानी डाला। इसके बाद उसे होश आया। शिवकुमार की मौत पर पत्नी सुमन व बहन भी विलाप कर रही थी। शिवकुमार का ढाई साल का बेटा अजय है। शिवकुमार का परिवार आजाद नगर में रहता है