News Description
एक ही प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होंगी नागरिक डिजिटल सुविधाएं

चण्डीगढ, 25 दिसंबर- हरियाणा में आगामी 14 अप्रैल, 2018 तक 30 विभागों की 380 नागरिक सेवाएं डिजीटल माध्यम से एक ही प्लेटफार्म पर मिलना शुरू हो जाएंगी। वहीं, आगामी 26 जनवरी, 2018 तक प्रदेश के 80 शहरों में स्वच्छता मैप एप्लीकेशन (एप्प) को शुरू किया जाएगा।
 
यह जानकारी आज यहां हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सुशासन दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से  डिजिटल सेवाओं के उदघाटन के अवसर पर दी गई। इस मौके पर शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन भी उपस्थित थी।
 
मुख्यमंत्री ने आज प्रदेशवासियों को ईं-गवर्नेंस के तहत सरल प्लेटफार्म पर 12 विभागों की 100 से अधिक सेवाएं आनलाईन और योजना पात्रता निर्धारण एवं विभागों को आनलाईन आवेदन की सेवा को शुरू किया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री को बताया गया कि पटवारियों को इन सेवाओं के डिजीटल प्रयोग हेतु 2500 टैबलेट दिए गए हैं ताकि वे प्रमाण-पत्र का डिजीटली सत्यापन कर सकें। मुख्यमंत्री को बताया गया कि यह शायद भारत में पहली बार इस प्रकार का कार्य किया जा रहा है जहां पर जमीनी स्तर पर यह कार्य इलैक्ट्रोनिकली किया जाएगा।
 
इसी प्रकार, मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 35 शहरों के लिए स्वच्छता मैप के एप्लीकेशन को भी लांच किया। मुख्यमंत्री को बताया गया कि इस एप्लीकेशन को अतिरिक्त संचालन की सुविधाओं के साथ भारत सरकार के स्वच्छता एप्प के साथ जोड़ा गया है और आगामी 26 जनवरी, 2018 तक प्रदेश के 80 शहरों में यह एप्प शुरू किया जाएगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस एप्प में गांवों को भी जोडऩे की प्रक्रिया शुरू की जाए ताकि वे भी अपने यहां पर स्वच्छता के बारे में जानकारी दे सकें।  
 
उपायुक्तों के डैशबोर्ड (दर्पण) को भी मुख्यमंत्री ने शुरू किया जिस पर देशभर में चल रही परियोजनाओं की विश्लेषणात्मक समीक्षा के साथ-साथ राष्टï्र स्तरीय परियोजनाओं का अनूठा सर्वेंक्षण भी है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को बताया गया कि इस डैशबोर्ड पर राज्य सरकार की 11 सेवाएं और केन्द्र सरकार की 7 सेवाएं मुहैया करवाई जा रही है।