News Description
किसानों ने जलाई गन्ने की होली

कुरुक्षेत्र : भारतीय योग संस्थान कुरुक्षेत्र इकाई की ओर राजेंद्र कॉलोनी स्थित नगली वाली कुटिया में महिला योग शक्ति दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय महिला अध्ययन केंद्र की पूर्व निदेशिका ऋचा तंवर ने बतौर मुख्यातिथि दीप प्रज्वलित किया। इसके पश्चात सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।

मुख्यातिथि ऋचा तंवर ने कहा कि भारतीय योग संस्थान द्वारा दी जा रही निशुल्क योग की सेवाएं सराहनीय कार्य है। जिससे शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक व आत्मिक संतुलन बनता है। महिलाओं के लिए योग विशेष उपयोगी है, क्योंकि यदि वे स्वस्थ रहेंगी तो वे घर की जिम्मेदारी का दायित्व बाखूबी निभा सकेंगी। योग से महिलाएं अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देकर घर व स्वस्थ समाज के निर्माण में योगदान दे सकती है। योग में ओम का उच्चारण, गायत्री मंत्र और शांति पाठ से मन व आत्मा पवित्र बनती है, वहीं मस्तिष्क में विकारों से छुटकारा मिलता है।

प्रधान मान ¨सह ने भारतीय योग संस्थान की संपूर्ण गतिविधियों का विवरण देते हुए बताया कि गांव मिर्जापुर में निर्माणाधीन योग आश्रम का कार्य जोरों से चल रहा है और शीघ्र ही यहां यौगिक क्रियाएं कराई जाएंगी। इस मौके पर महिला ¨वग की कार्यकताओं द्वारा भजन, देश भक्ति गीत, कविताएं और योग से संबंधित जानकारियां दी गई। कुटिया से रेणु जी द्वारा मधुर भजन सुनाए गए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की वेला में छोटे-छोटे बच्चों नवोदिता, उर्वी व वैदेही द्वारा एकल व सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किए गए। वहीं बेटी बचाओ लघु नाटिका प्रस्तुत की गई। मंच का संचालन कमला देवी ने किया। इस मौके पर होनहार विद्यार्थियों, कलाकारों और सहयोगियों को सम्मानित किया गया। आयोजकों ने मुख्यातिथि को स्मृति चिह्न देकर आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में संरक्षक गो¨बद लाल सेतिया, प्रधान मान ¨सह, डॉ. मनीष कुकरेजा, जितेंद्र कुमार, फतेह ¨सह पांचाल, देवी दयाल सैनी, नंद किशोर, सुरेंद्र शर्मा, डॉ. ओम प्रकाश, राम करण शर्मा, सचिन, नरेश, मिथलेश, नीलम, उषा, कमलेश, वर्षा, अनुपमा, शशि माटा और मधु शामिल रहे।

बॉक्स

भावुक किया बेटी बचाओ लघु नाटिका ने

कार्यक्रम में डॉ. मनीष कुकरेजा द्वारा निर्देशित लघु नाटिका बेटी बचाओ ने मौजूद सभी लोगों को भावुक कर दिया। इस नाटिका में आज के दौर में बेटियों की घटती संख्या, पालन पोषण, विवाह की ¨चता और आत्म सम्मान की रक्षा के पहलुओं को बड़ी बारीकी से दर्शाया गया, जिसने हर किसी को सोचने पर विवश किया। लघु नाटिका दिखाते हुए लोगों को शपथ दिलाई गई कि वे अपने घर, आस-पास व समाज में बेटी बचाने में अपना योगदान देंगे। इस नाटिका में ¨डपल ने बेटी, पूजा भाटिया ने मां, नमिता सचदेवा ने पिता तथा शशि,सुषमा, रूकमणि व ऋतु ने देवियों का अभिनय किया। वहीं जितेंद्र व नंद किशोर ने वार्ड ब्वॉय का रोल किया।