News Description
क्रिसमस पर यीशु की प्रार्थना कर मांगी लोगों ने मन्नतें

कैथल : जिलेभर में सोमवार को धूमधाम से क्रिसमस डे मनाया गया। इस मौके पर विभिन्न कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। बिलिवर्स इस्टर्न चर्च में क्रिसमस-डे पर विशेष प्रार्थना और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। चर्च में देश ही नहीं काफी संख्या में एनआरआइ लोगों ने भी भाग लिया और प्रभु यीशु की प्रार्थना कर सूख शांति की कामना की। भगवान यीशु की प्रार्थना के बाद के काटकर सभी लोगों में वितरित किया गया। बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पर प्रस्तुति देकर सबका मन मोह लिया। प्रार्थना में एससी सैल के उपाध्यक्ष प्रदीप क्योड़क ने विशेष रुप से भाग लिया। चर्च के फादर डीपी थॉमस ने बताया कि क्रिसमस डे पर ब्रिज ऑफ संस्था की ओर से भोजन के साथ ही गरीब व जरूरतमंदों में कपड़े वितरण का कार्य भी किया। उन्होंने बताया कि चर्च में सभी धर्मों के लोग पहुंचकर भगवान यीशु की प्रार्थना करते हैं। जो सच्चे दिल से भगवान की प्रार्थना कर जो भी मांगता है उसकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है। इस अवसर पर चर्च सेविका कमेलश, सुशील कुमार, नर्सी मौजूद थे।

एनआरआइ ने यीशु को किया याद

राजौंद : गांव संतोख माजरा स्थित सीएनआइ चर्च में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रभु यीशु की प्रार्थना करने के लिए काफी संख्या में लोग देश विदेश से पहुंचे थे। खासकर अमेरिका, कनाडा, आस्ट्रेलिया के एनआरआइ और जम्मू व श्रीनगर लोग आए थे। क्रिसमस को लेकर चर्च पर पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही थी। क्रिसमस-डे के पर्व पर छोटे-छोटे बच्चों ने रंग बिरंगे पोशाकों में अनेक धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करके लोगों को मंत्रमुग्ध किया। अमेरिका से आए एनआरआइ ने बताया कि वे 50 वर्ष से लगातार अपनी जन्म भूमि में आकर क्रिसमस-डे का त्योहार मनाते हैं। वैसे तो क्रिसमस-डे पूरे संसार में मनाया जाता है, लेकिन जो आनंद अपने गांव में पहुंचकर पर्व मनाने में आता है वह और कहीं नहीं आता। चर्च के पादरी मंगा मसीह ने बताया कि सुबह काफी संख्या में लोगों ने विशेष प्रार्थना में प्रभु यीशु मसीह को याद किया और उनके दिखाए रास्ते पर चलने का प्रण लिया। इस अवर पर चर्च कमेटी के सदस्य जौसफदास, बाबू राम, सुरेश, सरपंच जसबीर मौजूद थे।