News Description
30 लाख रुपये से बदले नंदीशाला के हालात

कैथल : भैणी माजरा गांव में बनी नंदीशाला में 30 लाख रुपये खर्च होने से हालात काफी बदल गए हैं। एक महीने पहले शुरू हुआ शेड निर्माण का कार्य पूरा हो चुका है। शेड का निर्माण होने से गायों को पड़ रही कड़ाके की ठंड से राहत मिलेगी। मिट्टी भराव का कार्य भी चल भी चल रहा है। पहले ठंड और बारिश की चपेट में आने से कई गायों की मौत हो गई थी।

नंदीशाला प्रबंध समिति के प्रधान सुरेश गर्ग नौच ने बताया कि कई योजनाएं ऐसी हैं, जिनको पूरा करने के लिए अभी भी काफी पैसे की जरूरत है। सबसे पहले जो मूलभूत सुविधाएं हैं उनको जुटाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। उसके बाद कई ऐसी मशीनें खरीदने की योजना भी है, जिससे गायों के गोबर और मूत्र को भी इस्तेमाल में लाया जा सकेगा। इससे नंदीशाला आर्थिक तौर पर निर्भर बनने की ओर बढ़ेगी।

कमेटी जल्द दे बची हुई राशि

नंदीशाला के लिए नगर परिषद की ओर से 40 लाख रुपये की राशि मंजूर किए गए थे। नंदीशाला में बिगड़ रहे हालात और कड़ी मशक्कत के बाद नप ने इनमें से 26 लाख रुपये तो जारी कर दिए हैं, लेकिन अब भी नप के अधिकारी बची हुई राशि को देने में आनाकानी कर रहे हैं। समिति सदस्यों का कहना है कि अब भी नंदीशाला में मिट्टी भराव, पानी के लिए खुरली बनाने और सांड़ों के लिए अलग व्यवस्था करने के लिए पैसे की जरूरत है। जितना जल्दी हो सके कमेटी को बची हुई राशि भी नंदीशाला में सुधार कार्यों के लिए जारी कर देनी चाहिए।