News Description
सुराज दौड़ में उत्साह के साथ दौड़े हर उम्र के प्रतिभागी

 झज्जर : भारत के पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस पर आयोजित सोमवार को सुराज दौड़ में सैकड़ों की संख्या में प्रतिभागियों ने उत्साह और उमंग के साथ हिस्सा लिया। कोट से जहांगीरपुर तक की पांच किलोमीटर की इस दौड़ में दस वर्ष के बच्चों से लेकर बड़ी उम्र के कई लोगों ने भी हिस्सेदारी की। खास बात यह रही कि सैकड़ों बच्चों ने निर्धारित समय में दौड़ पूरी की और वे पुरस्कार के हकदार बने।

दौड़ में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने अपने संबोधन में कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के राष्ट्र निर्माण में दिए गए महत्वपूर्ण योगदान को नमन करते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व से हर इंसान कुछ न कुछ सीख सकता है। अटल जी ऐसे नेता हैं जिनको विपक्षी भी सम्मान से सुनते थे। वे सही मायनों में अजात शत्रु हैं राजनीति में यह बड़ी बात है। अटल वाजपेयी ने वैश्विक ताकतों के आगे न झुकते हुए एटम परीक्षण किए, विश्व के ताकतवर देशों ने आर्थिक प्रतिबंध लगाए तो उनके आह्वान पर विदेशों में बसे भारतीयों ने दिल खोलकर भारत की आर्थिक रूप से मदद की।

सुराज दौड़ कोट से शुरू होकर सुराज दौड़ जंहागीरपुर में हुई खत्म

कोट में बाबा हरिदास मंदिर से शुरू होकर सुराज दौड़ जंहागीरपुर गांव की आइटीआइ में समाप्त हुई। लड़के व लड़कियों की अलग-अलग श्रेणियों में आयोजित दौड़ में उत्साह देखते ही बनता था। मैराथन को कोट गांव से एसडीएम बादली त्रिलोक चंद व ग्रवित के राज्य संयोजक डा. राजीव कटारिया ने झंडी दिखाकर रवाना किया। भारतीय सीमा सुरक्षा के पूर्व अधिकारी एवं बादली के बीडीपीओ प्रमेन्द्र ¨सह ने भी मैराथन को पूरा किया ।

कोट के पहलवान उमेश को किया सम्मानित

धनखड़ ने कहा कि मेहनत करो , आगे बढ़ो हम प्रतिवर्ष इन्ही दिनों ये दौड़ आयोजित करेंगे। हरियाणा का युवा ठाडा भी है सुंदर भी है। हमारी बेटियों ने सुदंरता और खेल के क्षेत्र में भी प्रदेश का नाम रोशन किया है। प्रदेश में प्रतिभा की कमी नहीं है जरूरत है आगे बढ़ाने की। सुराज दौड़ में शामिल सभी प्रतिभागियों को टी शर्ट दी गई। कृषि मंत्री ने कहा कि निर्धारित समय में दौड़ पूरी करने वाले सभी धावकों को ट्रैक सूट ईनाम स्वरूप दिया जाएगा। इस दौरान कोट गांव के पहलवान उमेश विजय को विदेश में मेडल जीतने पर बधाई दी और अपने एच्छिक कोटे 11 हजार रूपये देने की भी घोषणा की।