News Description
प्रशासन की मुनादी के बावजूद स्ट्रे कैटल फ्री नहीं हुआ शहर

 फिरोजपुर झिरका : शहर के हाईवे सहित मुख्य बाजारों में इस समय आवारा पशुओं की भरमार है। ऐसे में हादसों का सबब बन रहे इन आवारा पशुओं से लोग खासे परेशान हैं। हालांकि बीते दिनों स्थानीय प्रशासन ने एक मुनादी कराकर शहर में घूमने वाले आवारा पशुओं को पकड़ने की बात कही थी। लेकिन मुनादी के उपरांत भी आवारा पशुओं को अभी तक नहीं पकड़ा गया है। जिससे शहरवासियों में प्रशासन के प्रति गहरी नाराजगी देखी जा रही है।

प्रदेश की मनोहर सरकार ने हरियाणा में गोवंश संरक्षण एवं उनके संवर्धन के लए कानून बनाया हुआ है। लेकिन बीते कई वर्षों से सड़कों पर घूम रही गोवंश को देखकर लगता नहीं कि यह कानून गायों के लिए बना है। चूंकि इस कानून में गायों को संरक्षण एवं उनके संवर्धन की बातें की गई थी। हालांकि इस कानून से प्रदेश में गोहत्या पर काफी हद तक अंकुश भी लगा है। लेकिन लंबे समय से सड़कों पर घूम रही गायों को न तो सरकार संरक्षण दे रही है और न ही जिला प्रशासन। क्षेत्र के यादराम, मनोज कुमार, बनवारी लाल, कासिम आजाद, इलियास खान आदि ने बताया कि यहां के हाईवे सहित शहर के मुख्यमार्गों पर आवारा पशुओं का बसेरा है। इनकी वजह से यहां हादसे बढ़ते जा रहे हैं। इस क्रम में न तो आज तक गोसेवा आयोग ने कोई ठोस कदम उठाए और न ही इस बारे में प्रशासन की ओर से कोई कदम उठाए गए हैं।

सरकार एवं जिला प्रशासन से हमारी मांग है कि नूंह जिले के सभी स्थानों पर आवारा पशुओं की रोकथाम के लिए स्ट्रे कैटल फ्री अभियान चलाकर पशुओं को संरक्षण और लोगों को राहत देने का काम किया जाए